ट्विटर पर शिया-सु्न्नी एकजुटता की अपील

शिया मस्जिद, इमामबरगाह पाकिस्तान इमेज कॉपीरइट Reuters

पाकिस्तान की एक शिया मस्जिद में हुए धमाके में 49 लोगों के मारे जाने के बाद ट्विटर पर शिया-सुन्नी एकता की गुजारिश करने वाला हैशटैग ट्रेंड कर रहे हैं.

यह धमाका दक्षिणी सिंध प्रांत के शिकारपुर ज़िले में हुआ है. माना जा रहा है कि शुक्रवार की नमाज़ के बाद हुए इस धमाके को आत्मघाती हमलावर ने अंजाम दिया है.

ज्यादातर ट्विटर यूजर्स ने हैशटैग #Shikarpur का इस्तेमाल करते हुए धमाके की निंदा की है. जबकि कइयों ने हैशटैग #ShiaSunniBrotherhood के तहत शिया और सुन्नी संप्रदायों से एकजुट होने की अपील की है.

ये दोनों हैशटैग पाकिस्तान में ट्विटर के पांच शीर्ष ट्रेंड में हैं. हैशटैग #Shikarpur सूची में अव्वल नंबर पर है.

ट्विटर पर प्रतिक्रिया

इमेज कॉपीरइट EPA

ट्विटर यूजर असद उल्लाह क़ासिम (@AQ_781) ने ट्वीट किया है, "इन आतंकी घटनाओं को अंजाम देने वाले ना मुस्लिम है और ना ही उनका इस्लाम कुछ लेना देना है ."

एक दूसरे ट्विटर यूजर डॉक्टर आयशा ने (@DrAyesha4) ने कहा है, " सुन्नी और शिया, इस्लाम के दो संप्रदाय है और हम एक साथ है."

लश्कर-ए-झांगवी(एलइजे) जैसे सांप्रदायिक चरमपंथी समूहों के ख़िलाफ़ पत्रकार मार्वी सिरमद कार्रवाई करने की मांग करते हैं. पाकिस्तान में शिया मुस्लिमों पर होने वाले हमलों में अक्सर इस संगठन का नाम आता है.

मार्वी सिरमद (@marvisirmed) ट्वीट करते है, "शिकारपुर में इमामबाड़ा पर हुए हमले में कई मारे गए, कई घायल हुए हैं और कई दहशत में है. तो क्या अब भी हम कहेंगे कि लश्कर-ए-झांगवी से हमें कोई दिक्कत नहीं है? कार्रवाई में देर क्यों हो रही है?"

यह हमला साल 2015 में इमामबाड़ा पर हुआ दूसरा बड़ा हमला है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार