इबोला वैक्सीन का परीक्षण शुरू

इबोला वेक्सीन इमेज कॉपीरइट AFP

लाइबेरिया में इबोला को रोकने के लिए एक नए प्रयोगात्मक वैक्सीन का बड़े पैमाने पर परीक्षण शुरू होने जा रहा है.

इबोला के ख़िलाफ़ असरदार माने जा रहे इस वैक्सीन को परीक्षण के लिए कड़ी सुरक्षा के तहत इस पश्चिमी अफ्रीकी देश में एक गुप्त स्थान पर ले जाया गया है.

इस परीक्षण के तहत शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को सक्रिय करने के लिए कुछ स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के शरीर में इबोला वायरस के कुछ कणों को इंजेक्शन के ज़रिए डाला जाएगा.

हालांकि यह अभी स्पष्ट नहीं है कि यह परीक्षण कितना सफल होगा और इससे लोगों को इबोला के ख़िलाफ़ कितनी सुरक्षा मिलेगी.

30,000 कार्यकर्ताओं का होगा बचाव

इमेज कॉपीरइट Getty

वैज्ञानिकों का लक्ष्य है कि इसके तहत वे करीब 30,000 स्वयंसेवकों (वॉलंटियर्स) का बचाव करेंगे, जिनमें उनका इलाज करने वाले स्वास्थ्य कार्यकर्ता भी शामिल हैं.

इबोला से अब तक 8,500 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें सबसे अधिक मौतें गिनी, लाइबेरिया और सिएरा लियोन में ही हुई हैं.

अब तक इबोला के 21,000 से भी अधिक मामले दर्ज हैं.

अकेले लाइबेरिया में इबोला की वजह से 3,600 लोगों की मौत हो चुकी है.

नर्सों को ट्रेनिंग

इमेज कॉपीरइट Getty

लाइबेरिया से बीबीसी के संवाददाता मार्क डोयल ने बताया कि वैज्ञानिक इस बात को अच्छी तरह समझते हैं कि इस परीक्षण के लिए यहां के स्थानीय लोगों के साथ मिलकर काम करना कितना आवश्यक है.

उन्होंने बताया कि यहां की सामुदायिक नर्सों को इस बात की ट्रेनिंग दी जा रही है कि वे 'परीक्षण के लिए वायरस डाले गए वॉलंटियर्स' की किस प्रकार देख-रेख करें.

लाइबेरिया में इबोला के मामले कम हो रहे हैं. पिछले कुछ महीनों में वहां इबोला के केवल पांच मामलों की ही पुष्टि हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार