जॉर्डन में हत्या के बदले फांसी

साजिदा अल-रिशावी, आत्मघाती हमलावर इमेज कॉपीरइट Reuters

इस्लामिक स्टेट ने जॉर्डन के एक पायलट को ज़िंदा जला दिया जिसके कुछ ही घंटों बाद जॉर्डन ने दो जिहादियों को फांसी दे दी है.

अधिकारियों के अनुसार, आत्मघाती हमला करने में असफल रही साज़िदा अल-रिशावी और अल-क़ायदा से जुड़े ज़ियाद कारबोली को फांसी पर चढ़ा दिया गया है.

इससे पहले जॉर्डन ने रिशावी के बदले पायलट लेफ़्टिनेंट कसासबेह की रिहाई की कोशिशें की थीं.

वर्ष 2005 में हुए एक आत्मघाती हमले के आरोप में रिशावी को मौत की सज़ा सुनाई गई थी. इस हमले में 60 लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट Epa

अधिकारियों के मुताबिक़, ये दोनों इराक़ी नागरिक हैं और बुधवार को तड़के इन्हें फांसी दे दी गई.

इससे पहले आईएस ने एक वीडियो जारी किया था, जिसमें दिखाया गया है कि मोएज़ अल कसासबेह नाम के जॉर्डन के पायलट को ज़िंदा जलाकर मार डाला गया.

कसासबेह को पिछले साल दिसंबर महीने में उस वक्त बंधक बनाया गया था, जब उनका विमान सीरिया में रक़्क़ा के पास उड़ रहा था.

ये विमान अमरीकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेनाओं की मदद के लिए जा रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार