नवाज़ शरीफ़ ने मीडिया से मांगे दो साल

पाकिस्तान के प्रधनमंत्री नवाज़ शरीफ़ इमेज कॉपीरइट Reuters

मीडिया की तीखी आलोचना से परेशान पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने मीडिया को दो साल तक सरकार का साथ देने को कहा है.

शनिवार को लाहौर में 'काउंसिल ऑफ़ पाकिस्तान एडिटर्स' की बैठक में शरीफ़ ने कहा कि उन्हें मीडिया की आज़ादी से बहुत प्यार है, लेकिन मीडिया कम से कम दो साल के लिए अपनी रेटिंग और बिजनेस व्यापार भूल जाए और सरकार का साथ दे.

प्रधानमंत्री ने कहा, "मीडिया चरमपंथ के ख़िलाफ़ अपनाई गई राष्ट्रीय रणनीति पर अमल करके अपना योगदान दे."

नवाज़ शरीफ़ ने कहा कि वह मीडिया से उम्मीद करते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर संतुलित रिपोर्टिंग की जाएगी.

धरना और मीडिया

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा, "इस समय हर संस्थान का यह दायित्व बनता है कि वह पाकिस्तान को इस मुश्किल हालात से निकालने के लिए अपना भरपूर योगदान दें."

शरीफ़ ने कहा, "यह देश ठीक हो जाएगा तो आपके संस्थान भी भरपूर तरीक़े से चलेंगे और आपकी रेटिंग भी बढ़ती रहेगी."

नवाज़ शरीफ़ ने इस्लामाबाद में तहरीक़-ए-इंसाफ़ और आवामी तहरीक़ के धरने में मीडिया के कुछ संस्थानों की भूमिका और सरकार के पतन के लिए किए जाने वाले दावों का भी ज़िक्र किया.

प्रधानमंत्री ने कहा, "हम जकड़े गए थे, लेकिन हमने मीडिया को नहीं जकड़ा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार