मिस्र की आईएस ठिकानों पर बमवर्षा

मिस्र राष्ट्रपति, अब्देल फतेह अल सीसी इमेज कॉपीरइट Reuters

मिस्र की सरकार चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लीबिया में बमबारी कर रही है.

मिस्र ने यह कार्रवाई 21 ईसाइयों के सिर क़लम करने वाला वीडियो सामने आने के कुछ ही घंटों बाद शुरू कर दी.

सरकारी टेलीविज़न के मुताबिक सोमवार सुबह शुरू हुए इन हमलों में आईएस के कैंप, ट्रेनिंग क्षेत्र और हथियारों के गोदामों पर हमला किया गया.

लीबिया के अधिकारियों ने बताया है कि ये कार्रवाई चरमपंथियों के नियंत्रण वाले डेरना शहर में की गई है.

लीबिया में ज़मीन पर सरकार लगभग न के बराबर है और वहाँ बड़े इलाक़े पर इस्लामी चरमपंथी गुटों का कब्ज़ा है.

कार्रवाई करने का हक़

मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सीसी पहले ही यह साफ़ कर चुके हैं कि मिस्र को इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ बदले की कार्रवाई करने का हक़ है.

उन्होंने कहा, "मिस्र और पूरा विश्व, उग्रवादी विचारधारा वाले इस समूह से लड़ने के लिए एक जुट है."

वीडियो सामने आने के बाद मिस्र में सात दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विरोध करते हुए मारे गए लोगों के परिवारजन, फोटो रॉयटर्स

रविवार को एक वीडियो सामने आया था जिसमें मिस्र के अग़वा किए गए 21 ईसाइयों का कथित तौर पर सिर क़लम करते हुए दिखाया गया था.

इस्लामिक स्टेट से संबंध रखने वाले लीबिया के कट्टरपंथी इस्लामी चरमपंथियों ने इस वीडियो को इंटरनेट पर जारी किया था.

इस्लामिक स्टेट ने इन ईसाइयों को लीबिया से अग़वा किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार