ड्रोन उड़ाने के आरोप में पत्रकार गिरफ्तार

एफ़िल टावर इमेज कॉपीरइट REUTERS

पेरिस की पुलिस ने ग़ैर क़ानूनी ड्रोन उड़ाने के आरोप में अल-जज़ीरा के तीन पत्रकारों को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस ने इस ड्रोन का पता बा दी ब्लोइन इलाक़े में लगाया था.

अभियोजन पक्ष के एक प्रवक्ता ने कहा, इन गिरफ्तारियों और रात में शहर के ऊपर उड़ने वाले रहस्यमयी ड्रोन के बीच कोई रिश्ता नहीं है.

वहीं अल-जज़ीरा का कहना है कि उसके पत्रकार हाल में दिखे रहस्यमयी ड्रोनों के बारे में एक रिपोर्ट के लिए शूटिंग कर रहे थे.

रहस्यमय ड्रोन

इमेज कॉपीरइट Reuters

मंगलवार को लगातार दूसरे दिन शहर के कुछ प्रमुख स्थानों के ऊपर ड्रोन उड़ते देखे गए.

बिना लाइसेंस के पेरिस के ऊपर ड्रोन उड़ना प्रतिबंधित है.

आरोप सिद्ध होने पर अधिकतम एक साल की जेल और 75 हज़ार यूरो का जुर्माना हो सकता है.

न्याय व्यवस्था से जुड़े एक सूत्र ने समाचार एजेंसी एएफ़पी से कहा कि तीन गिरफ्तार लोगों में से एक व्यक्ति ड्रोन का संचालन कर रहा था, दूसरा उसकी वीडियो रिकार्डिंग कर रहा था और तीसरा व्यक्ति यह सब होते हुए देख रहा था.

गिरफ्तार किए गए लोगों के नाम और राष्ट्रीयता अभी सार्वजनिक नहीं की गई है.

सैटेलाइट टीवी चैनल अल-जज़ीरा का मुख्यालय क़तर में है.

ग़ैर क़ानूनी उड़ान

मध्य पेरिस में किसी विमान का छह हज़ार मीटर से नीचे उड़ना ग़ैर क़ानूनी है. इससे नीचे ड्रोन, पुलिस हेलिकॉप्टर और एअर एबुंलेंस उड़ाने के लिए अधिकारियों से इजाजत लेनी पड़ती है.

इमेज कॉपीरइट Getty

वहीं रात में ड्रोन का उड़ना पूरी तरह प्रतिबंधित है.

पिछले साल अक्तूबर में शहर के एक ऐतिहासिक होटल के ऊपर ड्रोन उड़ाने पर 24 साल के एक इसराइली युवक को एक रात के जेल की सजा और चार सौ यूरो का जुर्माना लगाया गया था.

हाल के सालों में पूरे देश में अज्ञात ड्रोन उड़ते देखे गए. अभी हाल ही में राष्ट्रपति भवन के ऊपर और ब्रिटैनी खाड़ी, जहां परमाणु पनडुब्बियां होती हैं, वहां भी ड्रोन उड़ता पाया गया. परमाणु बिजली घरों के ऊपर भी ड्रोन मंडराते देखे गए हैं.

फ्रांस के अधिकारियों ने इन मामलों की जांच शुरू कर दी है. लेकिन सरकारी प्रवक्ता ने सुरक्षा को लेकर कोई चिंता नहीं जताई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार