स्वाइन फ़्लू: चार राज्यों में कैसी है स्थिति

स्वाइन फ्लू इमेज कॉपीरइट EPA

भारत में स्वाइन फ़्लू का कहर थमता नहीं दिख रहा. इस बीमारी से अब तक देश भर में एक हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई है और 15,000 से ज़्यादा लोग इससे पीड़ित हैं.

बीबीसी हिंदी ने देश के चार राज्यों में स्वाइन फ्लू के संक्रमण और इसके इलाज की स्थिति का जायज़ा लिया.

महाराष्ट्र

स्थानीय पत्रकार अश्विन अघोर के अनुसार महाराष्ट्र में स्वाइन फ़्लू से मरने वालों की संख्या 143 हो गई है. इनमें 12 लोगों की मौत रविवार को हुईं.

मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस ने सभी निजी और ज़िला अस्पतालों को स्वाइन फ़्लू का मुफ़्त इलाज करने के आदेश दिए है. इसमें इलाज और इलाज के बाद की देखभाल का सारा ख़र्च राज्य सरकार उठाएगी.

स्वास्थ्य मंत्री डॉ दीपक सावंत ने राज्य के सभी स्वास्थ्यकर्मी और डॉक्टरों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं ताकि सभी कर्मचारी, मरीज़ों के इलाज और देखभाल के लिए उपलब्ध रहें.

पिछले दो दिनों में लगातार हो रही बारिश के चलते तापमान में कमी आई है, जो स्वाइन फ़्लू के बढ़ने के लिए अनुकूल वातावरण है. इस स्थिति में सरकार और भी ज्यादा एहतियात बरत रही है.

गुजरात

इमेज कॉपीरइट AP

अहमदाबाद से पत्रकार अंकुर जैन ने जानकारी दी है कि गुजरात में स्वाइन फ़्लू लगातार जारी है.

रविवार को 247 और नए मामले सामने आए जिसके बाद स्वाइन फ्लू से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 4,614 हो गई है.

इस साल जनवरी से अब तक इस बीमारी से राज्य में 275 लोग मारे जा चुके हैं.

अहमदाबाद में सबसे ज्यादा लोग स्वाइन फ़्लू से प्रभावित हैं.

बीमारी से बचने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर लोग मास्क पहने हुए देखे जा सकते हैं.

राजस्थान

जयपुर से पत्रकार आभा शर्मा के अनुसार राजस्थान में जनवरी से अब तक स्वाइन फ़्लू के 5,126 मामले सामने आए हैं. इनमें से 245 की मौत हो गई है.

इमेज कॉपीरइट Novartis

राज्य के अस्पतालों में 218 आइसोलेशन और 98 वेंटिलेटर सहित, स्पेशल आईसीयू बेड्स की व्यवस्था.

इसके साथ ही 24 घंटे राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष की व्यवस्था की गई है. अब तक 32 लाख लोगों को टैमीफ्लू और 65,000 लोगों को सिरप वितरित किए गए हैं.

राज्य में स्वाइन फ्लू पॉजिटिव पाए जाने वाले घरों के आसपास के 50 घरों में भी इन्फ्लुएंजा लक्षण वाले रोगियों को टैमीफ्लू वितरित किया जा रहा है.

बिहार

इमेज कॉपीरइट EPA

पटना से पत्रकार मनीश शांडिल्य के अनुसार, अब तक बिहार में स्वाइन फ्लू के 25 मामले सामने आए हैं हालांकि इनमें किसी भी हालत गंभीर नहीं बताई गई है.

राज्य स्वास्थ्य समिति के जन संपर्क अधिकारी रजनीश कुमार के मुताबिक़, "बीमारी की रोकथाम के लिए पूरे राज्य को हाई अलर्ट पर रखते हुए मीडिया के माध्यम से इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है."

रजनीश के अनुसार, "हर ज़िला अस्पताल में बीमारी से लड़ने के लिए पांच बिस्तरों वाला विशेष वॉर्ड तैयार किया गया है. हर ज़िले को पर्याप्त मात्रा में दवा, ट्रिपल लेयर मास्क और जांच किट उपलब्ध कराई गईं हैं. साथ ही राज्य स्तर पर 20 हज़ार टैबलेट का अतिरिक्त भंडार सुरक्षित रखा गया है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार