रूस ने विदेशियों के आने पर रोक लगाई

बोरिस नेम्तसोव का अंतिम संस्कार इमेज कॉपीरइट Reuters

रूसी नेता बोरिस नेम्तसोव के अंतिम संस्कार में यूरोपीय संघ और अन्य विपक्षी नेताओं को भाग लेने से रोका गया है.

बोरिस नेम्तसोव रूसी राष्ट्रपति पुतिन के कटु आलोचक थे. बीते शुक्रवार की रात मॉस्को में उनकी हत्या कर दी गई थी.

रूसी प्रतिबंधों की वजह से पोलेंड के एक नेता कालनीते को वीज़ा जारी नहीं किया गया जबकि लाटविया की संसद की एक सदस्य को मॉस्को एयरपोर्ट से ही लौटा दिया गया.

इमेज कॉपीरइट AFP

कालनीते ने बीबीसी को बताया कि उन्हें मॉस्को के न घुसने देने का कोई उचित स्पष्टीकरण नहीं दिया गया.

इसी तरह जेल में 15 दिन की सज़ा काट रहे विपक्षी नेता एलैक्से नोवाल्नी को भी जेल से बाहर आने की अनुमति नहीं दी गई.

नेम्तसोव की गर्लफ्रेंड अना दूरीत्सक्या को पुलिस ने पूछताछ के लिए रोका था लेकिन अब उन्हें यूक्रेन जाने की इजाज़त दे दी गई है.

इमेज कॉपीरइट EPA

उन्होंने रूसी मीडिया को बताया कि हमलावर ने पीछे से वार किया था, इस वजह से वे उसका चेहरा नहीं देख पाईं.

नेम्तसोव का शव मॉस्को के सोखरोव सेंटर में रखा गया जहां लोगों का तांता लगा रहा.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बोरिस नेम्तसोव की मां, 87 वर्षीय दीना इदमैन

नेम्तसोव का अंतिम संस्कार मॉस्को के एक कब्रिस्तान में किया जाएगा जहां पत्रकार अना को कत्ल के बाद दफ़नाया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार