ब्राज़ील में महिला हिंसा विरोधी नया क़ानून

जिल्मा रॉसेफ, ब्राज़ील इमेज कॉपीरइट AP

ब्राज़ील में नया क़ानून बनाया गया है जिसके तहत महिलाओं और लड़कियों की हत्या पर और कड़ी सज़ा का प्रावधान है.

नए क़ानून के अनुसार घरेलू हिंसा से जुड़ी हत्याओं के लिए 12 साल से 30 साल तक की सज़ा दी जा सकती है.

गर्भवती महिला, नवजात बच्चे की माँ, चौदह साल से कम लड़की और साठ वर्ष से अधिक उम्र की महिला की हत्या के लिए कैद की पहले से अधिक लंबी सज़ा का प्रावधान है.

इमेज कॉपीरइट Getty

ब्राज़ील की राष्ट्रपति जिल्मा रूसेफ ने नए क़ानून पर हस्ताक्षर करते हुए कहा कि नया क़ानून महिलाओं को सरकार की ओर से सुरक्षा देने का स्पष्ट संदेश देता है.

उन्होंने बताया कि हर रोज़ ब्राज़ील में 15 महिलाओं की हत्या होती है.

लातिन अमरीका के दूसरे देशों में भी इस तरह के क़ानून लागू किए गए हैं. अल साल्वाडोर में महिलाओं की हत्या की दर दुनिया में सबसे अधिक है. वहां भी ऐसा ही क़ानून लाया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)