कौन था सह पायलट लूबिट्ज़

लूबिट्स इमेज कॉपीरइट Reuters

मंगलवार को हुए जर्मनविंग्स विमान हादसे के लिए ज़िम्मेदार माने जा रहे 27 साल के सह पायलट आंद्रियास लूबिट्ज़ ने बहुत छोटी उम्र में ही विमान उड़ाना शुरू कर दिया था.

व्यावसायिक पायलट बनने से पहले लूबिट्ज़ पश्चिमी जर्मनी के अपने शहर मोंताबावर के ग्लाइडिंग क्लब के सदस्य रहे. अपने पड़ोसियों और दोस्तों की निगाह में वह एक शांत और मज़ेदार शख़्सियत थे.

फ़ेसबुक पेज पर पोस्ट की गई तस्वीर में सेन फ्रांसिस्को के गोल्डन गेट की पृष्ठभूमि में लूबिट्ज़ खुश नज़र आ रहे हैं.

लेकिन 24 मार्च की सुबह उनके करियर में एक अंधा मोड़ लेकर आई.

इमेज कॉपीरइट Getty

फ्रांसीसी अभियोजकों ने उन पर आरोप लगाया है कि वह जानबूझ कर एयरबस 320 को एल्प्स पर्वत श्रृंखला की तरफ ले गए. इस एयरबस में 150 लोग सवार थे.

विमान उड़ाने और जॉगिंग में रुचि

अब जाँचकर्ता उनकी पृष्ठभूमि और हादसे से पहले मानसिक अवस्था जानने की पूरी कोशिश में जुटे हैं. फ्रेंकफर्ट के क़रीब बसे मोंताबावर में उनके माता-पिता का घर अब मीडिया का ध्यान खींच रहा है.

हालाँकि पुलिस अधिकारी रिपोर्टरों और फ़ोटोग्राफरों को इस घर से दूर रखने की कोशिश कर रहे हैं. लूबिट्ज़ का ड्युसेल्डोर्फ में भी एक फ्लैट था. पुलिस सबूतों के लिए इस फ्लैट की भी छानबीन कर रही है.

इमेज कॉपीरइट

विमान उड़ाने में लूबिट्ज़ की दिलचस्पी 14 साल की उम्र में शुरू हुई जब उन्होंने एलएसडी वेस्टरवल्ड ईवी ग्लाइडर क्लब में दाखिला लिया.

क्लब के चेयरमैन क्लाउस राड्के ने बताया कि लूबिट्ज़ ने विमान उड़ाने का लाइसेंस भी हासिल किया.

पड़ोसी बताते हैं कि उन्हें दौड़ने का भी बहुत शौक था. 2007 में हाई स्कूल पूरा करके लूबिट्ज़ लुफ्तहांसा में इंटर्न के तौर पर चुने गए.

मधुर और मिलनसार

साथ ही उन्होंने कंपनी के ब्रेमेन प्रशिक्षण स्कूल में दाखिला ले लिया.

लुफ्तहांसा के सीईओ कार्स्टन स्पोर के मुताबिक़ छह साल पहले लूबिट्ज़ का प्रशिक्षण बीच में रोक दिया गया था, लेकिन उनकी योग्यता को फिर आंका गया और उनका प्रशिक्षण फिर शुरू हो गया.

सितंबर 2013 में वह लुफ्तहांसा की बजट एयरलाइन्स जर्मनविंग्स में भर्ती हो गए.

इमेज कॉपीरइट AP

बीबीसी संवाददाता जैनी हिल के अनुसार लूबिट्ज़ का घर बहुत ही शांत है. यहां लूबिट्ज़ अपने माता-पिता के साथ रहते थे.

उनकी एक पड़ोसी इस बात से बहुत हैरान थी और चिंतित भी कि अब मोंताबावर को इस विमान हादसे के जाेड़कर देखा जाएगा. हालांकि वह इस परिवार को बहुत क़रीब से नहीं जानती हैं.

फ्लाइट अटेंडेंट

जर्मन न्यूज़ वेबसाइट स्पीगल के अनुसार लूबिट्ज़ सह पायलट बनने से पहले फ़्लाइट अटेंडेंट थे.

लुफ्तहांसा ने बताया कि जर्मनविंग्स एयरबस के हादसे से पहले उन्हें कुल 630 घंटे विमान उड़ाने का अनुभव था. स्पोर ने मीडिया को बताया कि वह विमान उड़ाने के लिए सौ फ़ीसदी फिट थे.

लूबिट्ज़ के परिचित और मित्र कहते हैं कि वह मधुरभाषी और मिलनसार थे. उन्हें देख कर यह कतई नहीं लगता था कि वह अंदर ही अंदर किसी के ख़िलाफ़ नुक़सानदायक मकसद पर काम कर रहे थे.

क्लाउस राड्के ने असोसिएटेड प्रेस को बताया कि एक साल पहले ही वो लूबिट्ज़ से मिले थे और लूबिट्ज़ अपने करियर के लिए बहुत उत्साहित लग रहे थे. उनके बारे में ऐसा कुछ नहीं लगा जो ठीक ना हो.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मृतकों को परिजनों ने श्रद्धांजलि दी

राड्के ने अभियोजकों के इस दावे को भी ख़ारिज किया कि विमान को जानबूझ कर गिराया गया.

'पहले पूरी जांच हो'

राड्के ने कहा, "मुझे समझ नहीं आता कि जांच पूरी हुए बिना कोई इस निष्कर्ष पर कैसे पहुंच सकता है."

क्लब के पुराने सदस्य पीटर रॉएकर ने भी कहा कि पिछली बार वह जब लूबिट्ज़ से मिले थे तो वह बहुत ख़ुश लग रहे थे.

उन्होंने कहा, "मुझे समझ नहीं आ रहा क्या कहूं. चूंकि मैं लूबिट्ज़ को जानता हूं इसलिए ये बात मैं सोच भी नहीं सकता."

उन्होंने कहा कि इस बात का कोई आधार नहीं है कि लूबिट्ज़ ने एक चरमपंथी काम को अंजाम दिया.

हालांकि उन्होंने लूबिट्ज़ की धार्मिक पृष्ठभूमि पर बात करने से इंकार कर दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार