66 दिन समंदर की लहरों से 'जंग'

लुइस जॉर्डन इमेज कॉपीरइट AP

मछली पकड़ने निकला अमरीका का एक नाविक खुद समंदर की लहरों में उलझकर रह गया. उसकी नाव अटलांटिक महासागर में पलट गई और फिर शुरू हुई जान बचाने की जंग जो पूरे 66 दिन चली.

लुइस जॉर्डन नाम के इस 37 वर्षीय नाविक को नॉर्थ कैरोलीना से करीब 200 मील दूर से गुजरते जर्मनी के एक जहाज़ ने बचाया.

मछली खाकर बचाई जान

इमेज कॉपीरइट AP

जर्मन जहाज़ से जॉर्डन को अस्पताल पहुंचाने वाले अमरीकी कोस्ट गार्ड की ओर से जारी बयान में कहा गया कि उन्होंने साहस की ऐसी मिसाल पहले कभी नहीं देखी.

कोस्ट गार्ड के एक अधिकारी रेयान डोस ने बताया, "जॉर्डन ने अटलांटिक महासागर में कच्ची मछली और बारिश के पानी के सहारे जान बचाई."

जॉर्डन अपनी 35 फुट लंबी नाव पर आखिरी बार 23 जनवरी को साउथ केरोलीना में नज़र आए थे.

हादसे के बाद उनके परिजनों ने 23 जनवरी को उनके गुम होने की रिपोर्ट लिखाई थी.

'अब ठीक हूं'

इमेज कॉपीरइट AP

जर्मनी के जहाज़ पर सवार होने के बाद जॉर्डन ने अपने पिता से फोन पर बात की और कहा, ''अब मैं ठीक हूं. ''

जॉर्डन की वापसी से खुश उनके पिता ने कहा, ''मुझे लगा कि मैं तुम्हें खो चुका हूं "

जर्मन जहाज़ से अमरीकी कोस्ट गार्ड ने हेलीकॉप्टर के जरिए जॉर्डन को वर्जिनिया के नॉरफॉक स्थित एक हॉस्पिटल पहुंचाया.

(बीबीसी हिन्दी केएंड्रॉएड ऐपके लिए आप यहां क्लिककर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकऔर ट्विटरपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार