कम समय में ज़्यादा काम करने की 6 तरकीब

इमेज कॉपीरइट Alamy

कामकाजी दुनिया में ऐसी चर्चाएं अक्सर सुनने को मिलती हैं कि वो तो किसी वीकएंड पर काम नहीं करता फिर इतना कामयाब कैसे है? या फिर वो महिला तो कुछ निश्चित समय के बाद अपने ईमेल तक चेक नहीं करती, उसे यूनिट का हेड कैसे बना दिया गया है?

क्या ऐसे लोग अपने आस पास गोपनीय स्टॉफ रखते हैं जो उनके बदले काम करते हों? कहीं आप ऐसा तो नहीं सोच रहे? वैसे ऐसा होता नहीं है. हो सकता है कि कोई मदद करने वाले हो लेकिन उन्हें अपना काम तो खुद ही करना होता है.

(पढ़ें- कामकाजी तनाव दूर करने के 7 नुस्ख़े)

ऐसे में उन्होंने शायद स्मार्ट तरीक़े से काम करने का या फिर कम समय में ज़्यादा काम करने का रास्ता निकाल लिया होगा. इस टॉपिक पर लिंक्डइन इंफ्लूएंशर्स पर बीते सप्ताह चर्चा चल रही है. दो विशेषज्ञों की राय के बारे में हम आपको बता रहे हैं.

ट्रेविस ब्रैडबेरी, टैलेंटस्मार्ट, प्रेसीडेंट

कहीं आप ये तो नहीं सोचते कि ज़्यादा कामयाब होने या फिर ज़्यादा बेहतर काम करने के लिए आपको दिन-रात काम करना होता है? अगर ऐसा सोचते हैं तो फिर से सोचिए.

कम काम करके लोग ज्यादा कामयाबी कैसे हासिल करते हैं इस पर ब्रैडबेरी ने पोस्ट लिखा है.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

इस पोस्ट में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा गया है कि प्रति सप्ताह 50 घंटे से ज्यादा काम करने पर उत्पादकता में गिरावट होती है जबकि प्रति सप्ताह 55 घंटे से ज्यादा काम करने पर ये गिरावट ज़्यादा होती है.

हॉटवायर डॉट कॉम के सह-संस्थापक और रियल एस्टेट की वेबसाइट ज़िलोउ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्पेंसर रासकॉफ़ का उदाहरण देते हुए ब्रैडबेरी कहते हैं कि वे कभी वीकएंड पर काम नहीं करते और ना ही रात में अपने ईमेल चेक करते हैं.

(पढ़ें- आप 100 साल तक काम करना चाहते हैं?)

ब्रैडबेरी के मुताबिक कामयाब लोग सप्ताहांत में शरीर को आराम देने की अहमियत को समझते हैं और कायाकल्प की गतिविधियों में शामिल होते हैं, लिहाज़ा कम काम करते हैं.

लेकिन सवाल यही है कि क्या आप कम करते हुए आप कामयाब हो सकते हैं? ब्रैडबेरी ने अपनी पोस्ट में उन दस बातों का ज़िक्र किया है जिसके जरिए वे अपने आने वाले कामकाजी सप्ताह को बेहतर बना सकते हैं. इस पोस्ट में शामिल अहम बातें निम्न हैं.

1. डिस्कनेक्ट होना

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

सबसे अहम रणनीति है ख़ुद को डिस्कनेक्ट कर लेना. अगर आप शुक्रवार की शाम से सोमवार की सुबह तक ख़ुद को इलेक्ट्रानिक चीज़ों से डिस्कनेक्ट नहीं कर पाते हैं तो ख़ुद को काम से दूर नहीं रख पाएंगे.

2. वीकएंड पर कम से कम काम

वीकएंड पर कम से कम काम करने की आदत डालनी चाहिए. ऐसा नहीं होने पर छोटे मोटे काम-काज आपके वीकएंड को ख़त्म कर देते हैं. अगर अपने वीकएंड पर इस तरह काम करते रहे तो आप सप्ताह के सातों दिन काम करते रहेंगे.

(पढ़ें- आपने स्मार्टफ़ोन के बिल पर कभी ध्यान दिया?)

इन कामों को सप्ताह के दिनों के दौरान ही निपटाने की कोशिश करें. अगर तय समय सीमा पर वे काम ख़त्म ना हों तो वीकएंड के बाद उसे पूरा करें.

3. रचनात्मक सक्रियता

कम काम करने के बाद भी कामयाबी हासिल करने वाले लोग कंसर्ट देखते हैं या फिर नाटक के लिए टिकट ख़रीदते हैं. शहर में नए खुले होटल में पहुंचते हैं. ये लोग ट्रेडमिल पर दौड़ने की बजाए तेज़ी से पैदल चलने में यकीन रखते हैं.

ये लोग कुछ ना कुछ ऐसा करते हैं जिन्हें करने के लिए लंबे समय से उन्हें वक्त नहीं मिला हो. अगर आपने खुद के लिए शनिवार को कुछ दिलचस्प काम की योजना बना ली तो यकीन मानिए कि आपका मूड पूरे सप्ताह सही रहेगा.

4. ख़ुद के लिए वक्त निकालिए

अगर आपका परिवार है तो सप्ताह के अंत में अपने लिए वक्त निकालना बेहद मुश्किल काम है. ऐसे में आपकी दिलचस्पी जिन चीज़ों में है उसके लिए सुबह-सुबह वक्त निकालिए.

इमेज कॉपीरइट Getty

आपके नींद से उठने के दो से चार घंटे के बीच आपका दिमाग सबसे ज़्यादा सक्रिय रहता है, लिहाजा सुबह उठिए, कुछ शारीरिक अभ्यास कीजिए और उसके बाद अपने मन के मुताबिक कुछ काम कीजिए.

जैसन बिन, संस्थापक एवं सीईओ डूजूर, मुख्य सलाहकार जीआईएलटी डॉट कॉम

जैसन बिन ने सबकुछ तेजी से कैसे निपटाएं नामक अपनी पोस्ट में लिखा है कि इन दिनों हमें कैब में आराम करने का मौका मिलता है और पूरे दिन चलने वाले टीवी कार्यक्रम भी आराम का मौका नहीं देते.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

ऐसे में समय बचाने वाले एप, उपकरण और सेवा के जरिए लोग अपनी दक्षता बढ़ाते हैं. इन तरकीबों को अपना कर आप भी अपनी दक्षता बढ़ा सकते हैं.

5. पढ़ने की गति बढ़ाएं

आपको अपने पढ़ने की गति बढ़ानी चाहिए, इसके लिए स्पीड रीडिंग टेक्नालॉजी स्प्रिट्ज स्ट्रीम का सहारा ले सकते हैं. इसके इस्तेमाल के जरिए आप प्रति मिनट हज़ार शब्द पढ़ सकते हैं.

(पढ़ें- जीवनसाथी की मौत के लिए कितने तैयार हैं आप?)

इससे होने वाले बदलाव का अंदाजा लगाइए - आप एक घंटे में हैरी पॉटर की किताब को पढ़ सकते हैं. वार एंड पीस जैसे भारी भरकम उपन्यास को एक दिन में पढ़ सकते हैं. इससे आप समय बचा पाएंगे.

6. ऑनलाइन ख़रीददारी

घरेलू उपयोग के समान ऑनलाइन खरीदिए. आप अपने मोबाइल और डेस्कटॉप पर समानों को देखिए और खरीदिए. घर पर डिलिवरी की सुविधाएं अब कई स्टोरों पर उपलब्ध हैं.

इससे आप दुकान तक आने जाने का समय बचा सकते हैं. आप आनलाइन खरीददारी के साथ किसी के घर पर गिफ्ट भी भिजवा सकते हैं. इसके जरिए आप खरीदारी और दूसरे के घर पर आने जाने वाले समय की बचत भी कर सकते हैं.

(अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढ़ें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार