दिन भर चर्चा में रहीं इमरान ख़ान की बीवी

इमरान ख़ान इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption इमरान ख़ान ने गुरुवार को कराची में एक रैली की

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के मुखिया इमरान ख़ान की दूसरी पत्नी रेहाम ख़ान गुरुवार को दिन भर पाकिस्तानी मीडिया में छाई रहीं.

इसकी वजह है कराची में हुई पार्टी की रैली, जिसमें पहली बार रेहाम ख़ान दिखाई दीं.

टीवी चैनलों के साथ-साथ लोग सोशल मीडिया पर भी उनके आने-जाने से लेकर पहनावे-खाने के बारे में ख़ूब चर्चा करते दिखे.

उनको मिली ऐसी मीडिया कवरेज पर चुटकी लेते हुए राजनीतिक विश्लेषक अहमद क़ुरैशी ट्वीट करते हैं, "संसद में विदेश नीति पर चल रही बहस से ज़्यादा बड़ी ख़बर यह है कि रेहाम ख़ान ने लंच में क्या खाया."

'इमरान गहना'

एक अन्य पाकिस्तानी सारा शहज़ाद ने ट्वीट किया है, "पीटीआई के प्रति मैं जुनूनी हूँ, लेकिन रेहाम ख़ान की पसंद-नापसंद पर इस तरह की चर्चा समझ से परे है."

इमेज कॉपीरइट IMRAN KHAN OFFICIAL
Image caption इमरान ने इसी साल जनवरी में रेहाम ख़ान से शादी की

उनके सिर ढँकने पर उठे सवाल पर पत्रकार मेहर तरार लिखती हैं, "बीबी (बेनज़ीर भुट्टो) भी सिर ढँकती थीं, फ़हमीदा रियाज़ और हिना रब्बानी भी (ढँकतीं हैं) ... तो फिर रेहाम ख़ान को लेकर इतना हो-हल्ला क्यों?"

उत्सुकता और प्रसंशा के बीच इमरान ख़ान को अपना गहना बताए जाने पर कुछ लोग रेहाम की आलोचना करते भी देखे गए.

पत्रकार अंबर रहीम फ़हमी लिखती हैं, "पति को पत्नी का गहना बताकर रेहाम ख़ान ने पाकिस्तान में महिला आंदोलन को कई दशक पीछे धकेल दिया है."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

दरअसल विरोधी दल मुत्ताहिदा क़ौमी मूवमेंट की तरफ़ से कराची आने पर उन्हें सोने के हार से स्वागत करने के ऐलान पर रेहाम ने कहा कि पति ही पत्नी का गहना होता है, इसलिए उन्हें किसी और गहने की ज़रूरत नहीं.

महिलाओं से अपील

कराची पहुँचने से पहले एक टीवी चैनल से बातचीत ने रेहाम ने कहा कि था कि नए पाकिस्तान के निर्माण के लिए महिलाओं को भी बाहर आने की ज़रूरत है और इसलिए वे अपने पति का साथ देने कराची जा रही है.

क्रिकेट से राजनीति में आए 'पाकिस्तान तहरीक़-ए-इंसाफ़ के मुखिया इमरान ख़ान ने 'नया पाकिस्तान' के नारे के साथ मई 2013 में हुए आम चुनावों में हिस्सा लिया. लेकिन वो इन चुनावों में धांधली होने का आरोप लगाते हैं और इसकी जाँच के साथ-साथ चुनाव सुधार की मांग को लेकर देश भर विरोध प्रदर्शन करते रहे हैं.

कराची के जिन्ना ग्राउंड में एक उपचुनाव के लिए प्रचार करने पहुंचे इमरान ख़ान ने भी साथ आने के लिए रेहाम का शुक्रिया अदा किया और महिलाओं से राजीनीति में आने की अपील की.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार