'.सक्स' वेबसाइट डोमेन नाम पर मचा बवाल

आईसीएएनएन इमेज कॉपीरइट bbc

इंटरनेट पर वेबसाइट का नाम नियंत्रित करने वाली संस्था ने '.सक्स' डोमेन के नाम का ख़िलाफ़ कमर कस ली है. संस्था का कहना है कि कनाडा की एक कंपनी इस डोमेन नाम का ग़लत इस्तेमाल कर रही है.

इसके अनुसार कंपनी इसका इस्तेमाल नामी-गिरामी लोगों और कंपनियों से पैसा ऐंठने के लिए कर रही है.

इंटनेट कॉर्पोरेशन फ़ॉर असाइन्ड नेम्स एंड नम्बर्स (आईसीएएनएन) ने गुरुवार को अमरीका के फ़ेडेरल ट्रेड कमीश्न और कनाडा के ऑफ़िस ऑफ़ कन्ज़्यूमर अफ़ेयर्स (दोनों अमरीका और कनाडा की नियामक संस्थाएं हैं) को पत्र लिख इस विषय पर बात की है.

आईसीएएनएन का मूल पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

आईसीएएनएन ने '.सक्स' डोमेन नाम का अनुमोदन अन्य 583 डोमेन नाम के साथ किया था जिसमें '.कॉम', '.ऑर्ग' और '.यूएस' जैसे आम वेबसाइट के नाम भी शामिल हैं.

क्या है '.सक्स' का मसला?

नाम के अनुमोदन के बाद कनाडा की कंपनी वॉक्स पॉपुली रजिस्ट्री लिमिटेड इस डोमेन नाम से वेबसाइट रिजिस्ट्री करा रही थी.

इमेज कॉपीरइट AP

समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार '.सक्स' नाम से वेबसाइट रेजिस्ट्री के लिए नामी-गिरामी लोगों और ट्रेडमार्क कंपनियों से आवेदन 30 मार्च से स्वीकार किए गए थे. इसके बाद इस नाम के लिए आम जनता से आवेदन स्वीकार किए गए.

आम जनता के लिए इस नाम को मुहैया कराने से पहले कंपनी ने 2,499 डॉलर सालाना के दाम पर इस नाम को बेचने की कोशिश की, जो काफ़ी अधिक है.

पत्र में आईसीएएनएन ने कहा है कि रजिस्ट्री समझौते के तहत वह इस बात पर विचार कर सकती है कि वॉक्स पॉपुली ने का इस दिशा में कहीं कोई ग़लत काम या क़ानून को उल्लंघन तो नहीं किया.

आईसीएएनएन का कहना है कि यदि अमरीका और कनाडा की नियामक संस्थाओं को यह ग़ैर-कानूनी लगता है तो आईसीएएनएन के साथ हुए समझौते का उल्लंघन करने के लिए कंपनी पर कार्यवाई की जा सकती है और कंपनी के रजिस्ट्री संबंधी व्यवहार में बदलाव कर सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार