चीन छोटों के हाथ मरोड़ रहा है: ओबामा

चीन के कृत्रिम टापू इमेज कॉपीरइट CSIS

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने दक्षिण चीन सागर में चीन के अपने आकार और ताक़त का इस्तेमाल कर 'छोटे देशों का हाथ मरोड़ने' पर चिंता ज़ाहिर की है.

दक्षिणी चीन सागर के विवादित क्षेत्र में चीन के टापू बनाने से पैदा हुए तनाव के बीच अमरीकी राष्ट्रपति की यह टिप्पणी आई है.

गुरुवार को एक अमरीकी थिंक टैंक ने फ़िलिपींस के दावे वाले इलाक़े में चीनी निर्माण की तस्वीरें जारी की थीं.

वहीं चीन का कहना है कि उसकी संप्रभुता की रक्षा के लिए ऐसा करना ज़रूरी है.

चीन समूचे दक्षिणी चीन सागर पर दावा ठोक रहा है जबकि वियतनाम और फ़िलीपींस जैसे छोटे एशियाई देशों के भी इन इलाक़ों पर अपने दावे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

सैन्य अड्डे

इन देशों का कहना है कि चीन इन विवादित इलाक़ों में अवैध तरीक़े से टापू निर्मित कर रहा जिनका इस्तेमाल भविष्य में सैन्य अड्डों के रूप में किया जा सकता है.

जो तस्वीरें जारी हुई हैं उनमें कई टापुओं पर काम चलता दिख रहा है.

थिंक टैंक ने पहले और बाद की सैटेलाइट तस्वीरें जारी कर मानव निर्मित टापुओ, रनवे और बंदरगाह दिखाए हैं.

धौंस

इमेज कॉपीरइट CSIS
Image caption छोटे देशों की चिंता है कि चीन भविष्य में इन टापुओं का इस्तेमाल सैन्य अड्डो के रूप में कर सकता है.

जमैका यात्रा पर जब ओबामा से इस विषय पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि छोटे देशों की बात पर भी विचार किया जाना चाहिए.

उन्होंने कहा, "हम चीन को लेकर तब चिंतित होते हैं जब वह अंतरराष्ट्रीय नियमों की अनदेखी करता है और अपने बड़े क़द और ताक़त के दम पर दूसरे देशों को अपने दबाने करने की कोशिश करता है."

ओबामा ने कहा, "हमें लगता है कि इसका राजनयिक समाधान निकाला जा सकता है, लेकिन यदि वियतनाम और फ़िलीपींस चीन जितने बड़े नहीं है तो इसका मतलब यह नहीं होता कि इन देशों को किनारे कर दिया जाए."

ओबामा की टिप्पणी से कुछ ही घंटे पहले चीन के विदेश मंत्रालय ने इस मुद्दे पर विस्तृत बयान दिया.

संप्रभुता की रक्षा

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि इस क्षेत्र पर चीन का अधिकार निर्विवाद है और वह सिर्फ़ अपनी राष्ट्रीय संप्रभुता और अपने समुद्री अधिकारों की रक्षा कर रहा है.

इमेज कॉपीरइट CSIS

उन्होंने कहा, यह निर्माण क्षेत्र की सुरक्षा में लगे सैन्यबलों,वैज्ञानिक शोध और व्यवसायिक फ़िशिंग जैसी नागरिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए किया जा रहा है.

हाल के दिनों में अमरीका के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने समुद्र में चीन के टापू बनाने पर कहा है कि इससे क्षेत्र में तनाव बढ़ रहा है.

इस विवाद से संघर्ष की स्थिति भी पैदा हो चुकी है.

पिछले साल जब चीन ने वियतनाम के दावों वाले इलाक़े में ऑयल रिग स्थापित किया तो वियतनाम में चीन विरोधी प्रदर्शन हुए थे.

वहीं फ़िलीपींस ने संयुक्त राष्ट्र के स्थाई मध्यस्थता न्यायालय में शिकायत की है लेकिन चीन का कहना है कि वह इसमें शामिल नहीं होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार