जमात-ए-इस्लामी नेता कमरुज़्ज़मां को फ़ांसी

कमरुज़्ज़मां इमेज कॉपीरइट bengal pix

बांग्लादेश में जमात-ए-इस्लामी पार्टी के शीर्ष नेता मोहम्मद कमरुज़्ज़मां को ढाका की जेल में फांसी दे दी गई है.

कमरुज़्ज़मां को 1971 में बांग्लादेश की आज़ादी की लड़ाई के दौरान युद्ध अपराध का दोषी पाया गया था.

युद्ध अपराध के लिए बने ट्राइब्यूनल ने मई 2013 में कमरुज़्ज़मां को नरसंहार का दोषी क़रार दिया था.

62 वर्षीय कमरुज़्ज़मां को कम से कम 120 निहत्थे किसानों की हत्या का दोषी भी ठहराया गया.

क्षमादान मांगने से इनकार

उन्होंने बांग्लादेश की राष्ट्रपति से क्षमादान मांगने से इनकार कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ढाका में कमरुज़्ज़मां का परिवार

बांग्लादेश में युद्ध अपराध में फांसी की सज़ा पाने वाले वह दूसरे व्यक्ति हैं.

दिसंबर 2013 में जमात-ए-इस्लामी के सहायक महासचिव और एक इस्लामिक अख़बार के पूर्व संपादक अब्दुल कादर मुल्ला को फांसी पर लटका दिया गया था.

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार 1971 की लड़ाई में 30 लाख से ज्यादा लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार