गांधी, माओ..नोटोंं पर छपती हैं मर्दों की तस्वीरें

ऑस्ट्रेलिया का बैंक नोट
Image caption ऑस्ट्रेलिया का बैंक नोट

कनाडा और अमरीका में बैंक नोटों पर महिलाओं की भी तस्वीर लगाने के लिए मुहिम चलाई जा रही है.

ब्रिटेन में ऐसे ही एक कैंपेन के बाद बैंक ऑफ़ इंग्लैंड साल 2017 से 10 पाउंड के नोट पर लेखिका जेन ऑस्टिन की तस्वीर छापने को तैयार हो गया है.

लेकिन क्या किसी देश में किसी एक नोट पर एक महिला की तस्वीर लगा देना काफ़ी है?

'सिर्फ़ पुरुष'

Image caption भारतीय नोट

अमरीकी नोटों पर देश के संस्थापकों और पूर्व राष्ट्रपतियों की, चीन के नोटों पर माओत्से तुंग की और भारतीय नोटों पर महात्मा गांधी की तस्वीर रहती है.

इन देशों में बैंक नोटों पर महिला की तस्वीर नहीं मिलती. कुछेक देशों के नोटों पर महिलाओं की तस्वीर मिलती भी है तो केवल कुछ ही नोटों पर.

ब्रिटेन और कनाडा के कई नोटों पर महारानी की तस्वीरें हैं लेकिन आलोचकों का कहना है कि इन्हें महिलाओं के प्रतिनिधि के रूप में नहीं स्वीकार किया जा सकता क्योंकि वह राजशाही की प्रतीक हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अमरीका का एक बैंक नोट

तो क्या इन सभी देशों के बैंक नोट मर्दवादी नज़रिए की झलक देते हैं? बहरहाल कुछ देश ऐसे भी हैं जहां नोटों पर तस्वीर के मामले में महिलाओं को कमोबेश बराबरी हासिल है.

यूरोपीय देश स्वीडन में तीन नोटों पर महिलाओं की तस्वीर नज़र आती है. हालांकि इनमें से एक महिला 'मदर स्वीडन' हैं.

स्वीडन में साल 2015 और 2016 में जारी होने वाले नए नोटों पर तीन नए पुरुषों और तीन नई महिलाओं की तस्वीर होगी.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption स्वीडन का प्रस्तावित नया नोट

इन महिलाएं हैं अभिनेत्री ग्रेटा गार्बो, लेखक आस्त्रिद लिंडग्रेन और ओपेरा सिंगर बिर्गित निल्सॉन.

स्वीडन के रिक्सबैंक की जनरल काउंसिल की चेयरमैन सुज़ैना एबरस्टीन कहती हैं, "हमें लगता है कि नोटों पर पुरुषों और महिलाओं की तस्वीर समान संख्या में होनी चाहिए. यह हमारे उद्देश्यों के अनुरूप है. यही प्राकृतिक भी है."

ऑस्ट्रेलिया भी एक ऐसा देश है जहाँ के नोटों पर पुरुष और महिलाएं समान संख्या में मौजूद हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption स्वीडन का प्रस्तावित नया नोट

यहां के हर नोट पर एक तरफ़ एक पुरुष की और दूसरे तरफ़ एक महिला की तस्वीर है. बस एक नोट ऐसा है जिसपर एक तरफ़ महारानी की तस्वीर है और दूसरी तरफ़ देश के संसद भवन की तस्वीर है.

नार्वे के कुल पांच तरह के नोटों में दो पर महिलाओं की तस्वीर है.

नार्जेस बैंक की अधिकारी हिल्डे सिंगसास कहती हैं, "जिस समाज में जेंडर बराबरी महत्वपूर्ण मुद्दा है वहां बैंक नोटों पर महिलाओं और पुरुषों की तस्वीर बराबर संख्या में होनी चाहिए."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption नार्वे के नए नोटों के लिए प्रस्तावित एक डिज़ाइन

हालांकि नार्वे में बहुत जल्द नोटों की नई शृंखला जारी होने वाली है जिनपर महिलाओं या पुरुषों की तस्वीर नहीं होगी.

अभी तक अंतिम डिज़ाइन तय नहीं हुआ है लेकिन नए नोटों पर समुद्री जीवन से जुड़े जहाज़, पानी और मछली इत्यादि की तस्वीरें होगी.

इमेज कॉपीरइट REUTERS
Image caption बाएँ चीन की मुद्रा युआन और दाएँ जापान की मुद्रा येन.

डेनमार्क ने भी नोटों की नई शृंखला जारी की है जिनपर व्यक्तियों से ज़्यादा पुलों और ऐतिहासिक वस्तुओं की तस्वीरें हैं.

इससे पहले डेनमार्क में जो पांच नोट चलन में थे उनमें से दो पर महिलाओं की और दो पर पुरुषों की तस्वीरें थीं. एक नोट पर महिला और पुरुष दोनों की तस्वीर थी.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption स्वीडन का प्रस्तावित नया नोट

जेंडर समानता के अलावा विभिन्न देशों के नोटों में नस्ली विविधता का सवाल भी महत्वपूर्ण है.

इस मामले में भी कुछ देश ही अपवाद हैं. जैसे ऑस्ट्रेलिया में प्रचलित पांच नोटों में से एक पर आदिवासी समुदाय एबोरिजिन के नायक डेविड युनाइपोन की तस्वीर है.

वहीं अमरीका में प्रचलित हर नोट पर किसी श्वेत व्यक्ति की ही तस्वीर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार