सीरिया हमले के वीडियो ने रुलाया

सीरिया इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया के उत्तर-पश्चिम में हुए एक रासायनिक हमले का वीडियो देखकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा दल के अधिकारी रो पड़े. यह हमला क्लोरीन गैस से हुआ था.

इस वीडियो में 4 साल की उम्र के चार बच्चों को बचाने की डॉक्टरों की नाकाम कोशिश को दिखाया गया है.

अमरीका की राजदूत सैमंथा पावर ने कहा है की उनकी यह मीटिंग 'बेहद भावुक' थी और इसके लिए दोषी लोगों को सजा मिलेगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

सीरियाई सरकार ने इडलिब में हुए हमले की जिम्मेदारी लेने से इंकार किया है.

सांस लेने में हुई थी तकलीफ़

एक धमाका हुआ और उसके बाद ब्लीच कि तेज गंध छा गयी. इसके बाद दर्जनों लोग सांस लेने में तकलीफ़ की शिकायत ले कर अस्पताल पहुँचने लगे.

वीडियो में डॉक्टर एक, दो और तीन साल के तीन बच्चों को और उनके माता पिता और दादी को बचाने कि कोशिश कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट AP

बेरुत से बीबीसी की संवाददाता जिम मुइर कहते हैं कि क्लोरीन कोई बहुत बढ़िया हथियार नहीं पर यह खुले इलाकों में जल्दी फैलता है. बंद इलाके में फटने के बाद, भारी मात्रा में शरीर की अंदर जाने पर यह घातक हो सकती है, जैसा कि इस मामले में हुआ जान पड़ता है.

बैठक में उपस्थित सीरियाई अमेरिकन मेडिकल सोसाइटी की अध्यक्ष जहर शहलौल ने बीबीसी से बात करते हुए कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रतिनिधियों ने जो देखा उससे वे प्रभावित हुए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंनें कहा "उनमे से कुछ रो रहे थे. कई लोगों ने कहा कि इस मामले में आर्गेनाइजेशन ऑफ प्रोहिबिशन ऑफ़ केमिकल वेपन्स के तहत तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए."

सैमांथा पावर ने कहा "मैंने कमरे में कोई आँख नहीं देखी जो नम नहीं हुई."

इडलिब में सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि सीरियाई सरकार ने गुरुवार को यहाँ क्लोरीन गैस से भरे पांच बैरल बम फेंके.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सैमांथा पावर

मार्च 2015 में सर्मिन समेत इडलिब इलाके की चार गावों में क्लोरीन की हमले कि आशंका जताई गति थी जिसमे ६ लोगों कि मौत हो गयी थी और 206 लोग प्रभावित हुए थे.

अमरीका और अन्य काउंसिल मेंबर ने पहले भी बशर-अल-अस्साद कि सरकार पर केमिकल हमले का आरोप लगाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार