कशमकश के बीच पाक पीएम जाएंगे सऊदी अरब

इमेज कॉपीरइट

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ और सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ़ गुरुवार को सऊदी अरब के दौरे पर जा रहे हैं.

बुधवार को यमन के हालात पर एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद सरकारी प्रवक्ता ने ये जानकारी दी.

उनके मुताबिक प्रधानमंत्री शरीफ़ ने कहा कि वो सऊदी अरब की जनता के साथ एकजुटता जताने और यमन के हालात पर विचार विमर्श करने के लिए सऊदी अरब जा रहे हैं.

सऊदी अरब के नेतृत्व में छह खाड़ी देश यमन में शिया हूती विद्रोहियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर रहे हैं.

सऊदी अरब ने पाकिस्तानी सेना से भी अपने अभियान में मदद मांगी थी. लेकिन उसने इसका हिस्सा बनने से इनकार कर दिया.

हालांकि पाकिस्तानी संसद में पारित एक प्रस्ताव में ये जरूर कहा गया था कि जरूरत पड़ने पर पाकिस्तान यमन की सुरक्षा के लिए हर संभव कदम उठाएगा.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption यमन के राष्ट्रपति अब्द रब्बूह मनसूर हादी

आलोचना

यमन संकट में मदद न करने के लिए पाकिस्तान को तीखी आलोचना झेलनी पड़ रही है.

सऊदी अरब के एक मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान का रुख़ दिखाता है कि वो खाड़ी देशों के साथ नहीं है.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ईरान के साथ है जिस पर हूती विद्रोहियों को समर्थन देने का आरोप लगाया जाता है. हालांकि ईरान इससे इनकार करता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार