अमरीकी शहर में दंगे, आपातस्थिति की घोषणा

अमरीका में काले व्यक्ति की मौत के बाद विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीका के बाल्टीमोर शहर में पुलिस हिरासत में घायल एक काले व्यक्ति की मौत के बाद हुई हिंसा और प्रदर्शनों के कारण आपत स्थिति घोषित कर दी गई है.

प्रशासन ने एक सप्ताह का कर्फ़्यू भी लगा दिया है.

अफ़्रीकी मूल के अमरीकी नागरिक फ्रेडी ग्रे के अंतिम संस्कार के बाद सोमवार को प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़पें हुईं.

कुछ अधिकारियों का कहना है कि 1968 में मार्टिन लूथर किंग की हत्या के बाद हुए दंगों के बाद से यह सबसे बड़ी हिंसा है.

इमेज कॉपीरइट MURPHY FALCON AND MURPHY
Image caption ग्रे के परिवार का कहना है कि उन्हें पीटा गया था

फ़्रेडी ग्रे पुलिस हिरासत में गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

एक हफ़्ते कोमा में रहने के बाद 25 साल के फ्रेडी ग्रे की मौत 19 अप्रैल को हो गई थी.

हालांकि न्याय विभाग इस बात की तफ़्तीश कर रहा है कि फ्रेडी को कब और कहां चोट लगी थी.

फ्रेडी ग्रे की मौत को पुलिस संपर्क के बाद हाल के दिनों में हुई काले लोगों की मौत को अब तक का सबसे नया मामला बताया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट AP

लूटमार

विरोध प्रदर्शनों के एक वीडियो में बाल्टीमोर की कई इमारतों में आग दिख रही है.

एक स्थानीय फ़ोटो पत्रकार जेएम जोरडानो ने बताया, "लोग बेहद डरे हुए हैं. प्रदर्शनकारियों ने अमीर इलाक़ों लूटपाट की है. दसियों लाख डॉलर का नुक़सान हुआ है."

बाल्टीमोर की मेयर स्टेफ़नी रॉलिंग्स ने फ़्रेड ग्रे के अंतिम संस्कार पर हिंसा करने वालों की आलोचना की है.

हिंसक झड़प

हिंसक विरोध प्रदर्शन में 15 अधिकारी घायल हुए हैं और अब तक कई लोग गिरफ़्तार किए जा चुके हैं.

फ्रेडी ग्रे की मौत से जुड़े मामले से संबंधित छह पुलिस अधिकारियों को अब तक निलंबित किया जा चुका है.

बाल्टीमोर की मेयर स्टीफ़ेनी रॉवलिंग ब्लेक कहती हैं, "हम हालात को क़ाबू में करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं."

इससे पहले राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी ज़रूरत पड़ने पर हर मुमकिन सहायता देने की पेशकश की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार