हबल से अंतरिक्ष की 17 मोहक तस्वीरें

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अंतरिक्ष के कई रहस्यों से पर्दा हटाने वाले हबल टेलिस्कोप ने इस महीने अपने 25 साल पूरे किए हैं.

दूर दराज़ तक फैली आकाशगंगाओं की बात हो या फिर तारों की या ब्लैक होल्स की... हबल की इन तस्वीरों ने ब्रह्माण्ड के रहस्यों के बारे में हमारी जानकारी में नए अध्याय जोड़े हैं.

अपने अब तक के जीवनकाल में हबल ने पृथ्वी के इर्दगिर्द 1.37 लाख बार चक्कर लगाए हैं.

इस दौरान हबल अंतरिक्ष के मनोरम और रहस्यों से भरे संसार की तस्वीरों को कैद कर रहा है और ये समय अंतरिक्ष विज्ञान का 'गोल्डन एज' कहा जाने लगा है.

ऊपर नज़र आने वाली तस्वीर हबल ने 25 साल पूरे होने के दिन ली है. इसमें 20 हजार प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित 2000 से ज़्यादा 'युवा' तारे चमकते दिख रहे हैं. तारों के इस विशाल समूह को वेस्टरलैंड 2 कहा गया है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

पिनव्हील गैलेक्सी के निक नाम से मशहूर ये आकाशगंगा पृथ्वी से 2.5 करोड़ प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है. यह इतनी बड़ी है कि इसके एक छोर से दूसरे छोर की दूरी 1.7 लाख प्रकाश वर्ष की है. इस आकाशगंगा को मेजियर 101 के नाम से जाना जाता है और यह पृथ्वी की आकाशगंगा मिल्की-वे से दोगुना बड़ी है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

यह घुमावदार हेलिक्स मरते हुए तारों की गैस से भरा है. ये तस्वीर 2002 में ली गई थी और ये हेलिक्स पृथ्वी से 690 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इस तस्वीर में नवजात तारे दिखाई पड़ रहे हैं. अंतरिक्ष में नाग की तरह नज़र आने वाले ये तारे ईगल नेबुला का हिस्सा हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

क्या आपको इस तस्वीर में कुछ डार्क मेटर दिख रहा है. इसे देखना असंभव है. लेकिन यहां डार्क मेटर बड़ी मात्रा में मौजूद है. ये तस्वीर आकाशगंगा एबेल 520 की गर्म गैसों की है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

हबल ने जब अपने 23 साल पूरे किए थे, तब उसने घोडे के सिर के आकार वाले नेबुला की तस्वीर ली थी. नेबुला आउटर स्पेस की गैस और धूलकण से भरे बादल होते हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इस तस्वीर में जुपिटर पर उसके कई उपग्रहों की छाया दिख रही है. तस्वीर में जो ब्लैक स्पॉट दिख रहे हैं वह जुपिटर के सबसे बड़े उपग्रह लो, गेनेडे और कैलिस्टो हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

ये विशाल क्रैब नेबुला की तस्वीर है जो एक तरह से छह प्रकाश वर्ष दूरी के बीच फैले, खत्म हो रहे तारे का अवशेष है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इस नेबुला को कैट्स-आई कहते हैं. ये नाम क्यों पड़ा होगा, ये तस्वीर से साफ है. इस तरह का ये अपने आप में पहला नेबुला था.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

हबल टेलिस्कोप ने रिंग नेबुला की भी विविधरंगी तस्वीर ली. यह नेबुला एक लायरा नक्षत्र का हिस्सा है जो करीब 2000 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सेजेटेरियस नक्षत्र में शामिल ओमेगा या स्वान नेबुला की ये तस्वीर हबल ने 2003 में ली थी.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इस तस्वीर में शनि ग्रह दिख रहा है जो पृथ्वी की ओर अधिकतम 27 डिग्री तक झुका दिख रहा है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

धूलकणों की इस सर्पिल लहरदार छवि मशहूर कलाकार वॉन गॉग की स्टारी नाइट्स कलाकृति की याद दिलाती है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इसमें अलग अलग वेबतरंगों वाले नेबुला, तारों का समूह और आकाशगंगा एक साथ नज़र आ रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

व्हर्लपूल आकाशगंगा में लाल चमक एक नए तारे के अभ्युदय को दर्शा रही है. आकाशगंगा के केंद्र में नजर आ रहे धुलकण ब्लैक होल का संकेत देते हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इसमें दो आकाशंगंगाएँ एक दूसरे के नजदीक आ रही हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

और आखिर में ये तस्वीर तब की है जब हबल अपने 21 साल पूरे कर रहा था. इस आकाशगंगा की फूलों जैसी तस्वीर के चलते इसे रोज ऑफ़ गैलेक्सी कहते हैं.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी अर्थ पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार