ओबामा ने की बाल्टीमोर हिंसा की निंदा

इमेज कॉपीरइट

अमरीका के बाल्टीमोर शहर में एक काले व्यक्ति की मौत के बाद भड़की हिंसा को लेकर राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अफ्रीकी मूल के अमरीकी नागरिकों के ख़िलाफ़ पुलिस हिंसा को 'धीमी गति से बढ़ता संकट' बताया.

उन्होंने ये भी कहा है कि बाल्टीमोर में सोमवार को लूटपाट और आगजनी करने वालों के साथ अपराधियों जैसा बर्ताव होना चाहिए.

बाल्टीमोर में पुलिस हिरासत में गंभीर रूप से घायल काले व्यक्ति फ्रेडी ग्रे के अंतिम संस्कार के बाद पूरे इलाके में हिंसा और प्रदर्शनों का दौर शुरू हो गया है.

शहर में एक हफ़्ते का कर्फ़्यू लगा है और हज़ारों सैनिक तैनात किए गए हैं.

200 गिरफ्तार

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption हिंसा और प्रदर्शनों के बीच 200 लोग गिरफ़्तार किए गए हैं

हिंसा और विरोध प्रदर्शनों के बीच अब तक 200 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं जबकि 100 कारें जला दी गई हैं और 15 इमारतों को नुकसान पहुंचा है.

इससे पहले 1968 में नेशनल गार्ड तब बाल्टीमोर भेजे गए थे जब मानवाधिकार कार्यकर्ता मार्टिन लूथर किंग की हत्या के बाद दंगे भड़क उठे थे.

उसके बाद बाल्टीमोर के दंगे को अब तक की सबसे गंभीर हिंसा बताया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट
इमेज कॉपीरइट Reuters
इमेज कॉपीरइट Reuters

मंगलवार की शाम को हज़ारों प्रदर्शनकारी सड़क पर उतरे. पुलिस के साथ उनकी झड़प भी हुई.

बराक ओबामा ने कड़ी निंदा करते हुए इसे कुछ मुट्ठीभर लोगों की निरर्थक हिंसा और लूटपाट बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार