'नहीं बनाऊंगा मोहम्मद साहब का कार्टून'

कार्टूनिस्ट रेनाल्ड इमेज कॉपीरइट AFP

फ़्रांसीसी पत्रिका शार्ली एब्डो के पेरिस दफ्तर पर हुए हमले के बाद मैगज़ीन के पहले पन्ने को डिज़ायन करने वाले कार्टूनिस्ट ने कहा है कि वो अब पैगंबर मोहम्मद साहब की तस्वीर नहीं बनाएंगे.

कार्टूनिस्ट रेनाल्ड लुज़ लुजिए ने फ्रांस की मैगज़ीन 'इनरोक्स' को बताया कि मोहम्मद साहब का कार्टून बनाने में अब उनकी दिलचस्पी नहीं है.

रेनाल्ड ने कहा, " मैं सारकोजी की तस्वीर बनाने की ही तरह मोहम्मद की तस्वीर बनाते हुए भी उकता गया हूं. मैं उनके कार्टून बनाते हुए अपनी जिंदगी नहीं बिताना चाहता "

शार्ली एब्डो के दफ्तर में इस साल 7 जनवरी को दो इस्लामी चरमपंथियों ने हमला किया था. इस हमले में 12 लोगों की मौत हो गई थी.

'मैं हूं शार्ली'

इमेज कॉपीरइट Getty

इस हमले के बाद शार्ली एब्डो के पक्ष में सहानुभूति की लहर चल पड़ी थी. 'मैं हूं शार्ली' के बैनर के साथ मैगज़ीन के प्रति समर्थन ज़ाहिर किया गया था.

हमले के कुछ ही दिन बाद मैगज़ीन का बेबाक अंक निकाला गया. इसकी हेडलाइन थी 'सबको माफ़ किया' इसके ऊपर रेनाल्ड का बनाया कार्टून था, जिसमें मोहम्मद साहब को रोते हुए दिखाया गया था. साथ में लिखा था 'मैं शार्ली हूं'

मैगज़ीन पर जनवरी में हुए हमले के बाद इसकी प्रसार संख्या में ज़बरदस्त इज़ाफा हुआ है. आम तौर पर इसकी 60 हज़ार प्रतियाँ प्रकाशित होती थीं, जो हमले के बाद 80 लाख तक पहुंच गईं.

किताब का इंतज़ार

इमेज कॉपीरइट geety

रेनाल्ड कार्टून पर आधारित एक किताब जारी करने वाले हैं जिसे नाम दिया गया है 'कैथार्सिस' यानि संशुद्धि. उन्होंने 'इनरोक्स' को दिए साक्षात्कार में बताया कि अपने साथियों की हत्या के बाद ये किताब उनका खुद को ज़ाहिर करने का ज़रिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार