'ऐसे अपराध जो आप सोच भी नहीं सकते'

एलेप्पो इमेज कॉपीरइट Reuters

मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरनैशनल ने सीरियाई सेना पर मानवता के ख़िलाफ़ अपराध करने का आरोप लगाया है.

एमनेस्टी के मुताबिक एलेप्पो शहर में विद्रोहियों के कब्ज़े वाले क्षेत्र में लगातार बैरल बम फेंकने से पिछले साल में ही 3000 लोग मारे गए हैं.

इस बमबारी में अस्पतालों, मस्जिदों और स्कूलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है. बैरल बम एक कनस्तर में बहुत सारे बम एकत्र कर हेलिकॉप्टर या लड़ाकू विमान से गिराया जाता है जिससे कई धमाके होते हैं.

रविवार को बैरल बम के इस्तेमाल के कारण चार बच्चों और टीचरों समेत 10 लोग मारे गए थे.

उधर राष्ट्रपति बशर अल असद ने बैरल बम के इस्तेमाल का पूरी तरह से खंडन किया है.

इमेज कॉपीरइट
Image caption एमनेस्टी का कहना है कि पिछले साल एलेप्पो में तीन हज़ार से ज़्यादा लोग मारे गए

एलेप्पो सीरियाई विद्रोहियों का गढ़ है और वहाँ सेना और विद्रोहियों के बीच भीषण संघर्ष चल रहा है.

सामूहिक सज़ा

एमनेस्टी का कहना है कि नागरिकों को बचने के भूमिगत रहने पर मजबूर होना पड़ रहा है.

एमनेस्टी ने ये भी आरोप लगाया है कि सीरियाई सेना सामूहिक तौर पर सबको सज़ा देने की नीति अख़्तियार करती नज़र आ रही थी.

एमनेस्टी ने सीरिया के विद्रोही गुटों पर भी हथियारों के इस्तेमाल से एलेप्पो में युद्ध अपराध करने का दोषी ठहराया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार