पाकिस्तान में सौलत मिर्ज़ा को फांसी दी गई

इमेज कॉपीरइट bbc

पाकिस्तान के सरकारी टेलीविजन का कहना है कि हत्या के आरोप में दोषी ठहराए गए सौलत मिर्ज़ा को बलूचिस्तान की जेल में फांसी दे दी गई है.

उन्हें कराची इलेक्ट्रिक सप्लाई कारपोरेशन के प्रबंध निदेशक शाहिद हामिद की हत्या के जुर्म में मौत की सज़ा सुनाई गई थी.

इससे पहले, सौलत मिर्ज़ा की फांसी दो बार स्थगित की जा चुकी थी, लेकिन इस महीने के शुरू में उनके लिए तीसरी बार डेथ वारंट जारी किया गया था.

इसी साल 18 मार्च को फांसी की सज़ा पर अमल किए जाने से कुछ घंटे पहले सौलत मिर्ज़ा का वीडियो सामने आया जिसमें उन्होंने मुत्तेहिदा क़ौमी मूवमेंट के नेता अल्ताफ़ हुसैन सहित पार्टी के प्रमुख नेतृत्व पर गंभीर आरोप लगाए थे.

सौलत ने कहा था कि उन्होंने शाहिद हामिद की हत्या एमक्यूएम के नेताओं के कहने पर की थी.

सौलत के आरोप

यह वीडियो सामने आने के बाद उनकी सज़ा पर 30 अप्रैल तक के लिए रोक लगा दी गई थी.

पिछले सप्ताह सौलत मिर्ज़ा की पत्नी ने सिंध हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी कि उनके पति के हाल बयान को देखते हुए शाहिद हामिद हत्याकांड की फिर से जांच की जा रही है, इसलिए जब तक यह जांच पूरी नहीं हो जाती, उनकी फांसी की सज़ा पर अमल को रोका जाए.

सौलत मिर्ज़ा ने एमक्यूएम प्रमुख अल्ताफ हुसैन पर शाहिद हामिद की हत्या करने का निर्देश देने का आरोप लगाया था.

सौलत मिर्ज़ा ने आगे कहा कि अल्ताफ़ हुसैन बाबर ग़ौरी के ज़रिए निर्देश देते थे.

सौलत मिर्ज़ा ने यह भी कहा कि 'एमक्यूएम के कहने पर पीपल्स पार्टी की सरकार में उन्हें जेल में भी सुविधाएं दी गईं.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार