अरबपति बन गए तो समस्याएं ख़त्म?

इमेज कॉपीरइट Alamy

कई बार हम लोग सोचते हैं कि अगर पैसा है तो हर मुश्किल का हल मिल जाएगा. या फिर, पैसा है तो कोई समस्याए नहीं आएगी.

क्या वास्तविक जीवन में भी ऐसा होता है?

अमरीकी रैपर गायक बैगी स्माल्स ने एक बार कहा था, "ज़्यादा पैसा, ज़्यादा समस्याएं."

स्माल्स अरबपति नहीं थे, लेकिन 1997 में उनके निधन के वक्त उनकी कुल संपत्ति 160 मिलियन डॉलर के आसपास थी. ज़ाहिर है कि वे धन से जुड़ी समस्याओं के बारे में तो जानते ही होंगे.

तो क्या वाकई में बहुत पैसा भी अपने आप ज़्यादा मुश्किलों को जन्म दे सकता है? बीबीसी कैपिटल ने सवाल-जवाब की वेबसाइट क्योरा में अरबपति लोगों की समस्याओं के बारे में पूछा.

गर्लफ़्रेंड कॉलबैक नहीं करती

'द एक्सीडेंटल बिलिनियर्स' नाम की किताब के लेखक बेन मेज़रिच ने लिखा है कि वित्तीय समस्याओं के अलावा अरबपतियों की दूसरी समस्याएं भी आम लोगों जैसी होती हैं.

इस पर बाद में द सोशल नेटवर्क नाम से फिल्म भी बनी. वे लिखते हैं, "उनकी (करोड़पतियों की) भी गर्लफ़्रेंड उन्हें कॉलबैक नहीं करती और उनका भी प्रोस्टेट बढ़ कर दर्दनाक हो जाता है."

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

एक महत्वपूर्ण अंतर है अरबपतियों के बच्चों के लालन पालन में, और उससे जुड़ी समस्याएँ.

मेज़रिच लिखते हैं, "बहुत ज़्यादा पैसे वालों के बच्चों को साथ कई मुश्किलें आती हैं. उन्हें कभी संघर्ष नहीं करना पड़ता और संघर्ष हमें मज़बूत बनाता है. संघर्ष करना मानवीय स्थिति है जो हमें परिस्थितियों के अनुकूल बनाता है. अगर आप ने संघर्ष नहीं किया, तो आप उतने मज़बूत नहीं बन पाएँगे. आप साहस के साथ हालात का सामना नहीं कर पाएँगे."

अवसरवादी दोस्तों की भीड़

लोगों के पूर्वानुमान भी अरबपतियों के लिए बड़ी समस्या बन जाते हैं. फ़िलिफ रेमाकर के मुताबिक आम लोग ये अनुमान लगाने लगते हैं कि पैसे की बदौलत वो हर मुश्किल का हल निकाल सकता है.

रेमाकर कहते हैं, "लोग बहुत पैसा होने का मतलब असीमित पैसा समझते हैं. इसलिए किसी भी समस्या के हल के लिए वो चाहते हैं कि आप पैसा ख़र्च करें. इसलिए उन्हें कड़ी आलोचना भी झेलनी पड़ती है."

इसके अलावा अरबपतियों के आस पास हमेशा लोगों की भीड़ होती है, तो उनके लिए वास्तविक दोस्तों की पहचान करना भी मुश्किल काम बन जाता है.

शादीशुदा बने रहना मुश्किल

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

पॉल सुलिवान के मुताबिक काफ़ी ज़्यादा पैसा होने के बाद शादीशुदा बने रहना बड़ी चुनौती है.

वे कहते हैं, "शादी ज़्यादातर लोगों के लिए मैराथन की तरह है. कई बार आप शादी से निकलने की सोचते हैं, लेकिन शादी में बने रहते हैं. क्योंकि तलाक लेना काफी महंगा काम है. अमीर लोगों के लिए तलाक लेना आसान होता है और वैसे भी उनमें मुश्किलों के बाद भी शादी में बने रहने की प्रतिबद्धता कम होती है."

निजी सुरक्षा का डर

गोंग चैंग के मुताबिक निजी सुरक्षा का मसला अरबपतियों को खासा परेशान करता है.

वे लिखते हैं, "उन्हें हमेशा किडनैप किए जाने का डर सताता रहता है. उन्हें लगता है कि कोई ना कोई उन पर नज़र रख रहा है."

वैसे किसी धनी माता-पिता की संतान होना आसान नहीं होता है. एक अरबपति दंपति की संतान ने अपनी पहचान गोपनीय रखते हुए हमें बताया है कि उनकी मुश्किलें स्कूल से शुरू हो जाती हैं.

बाक़ी छात्र उनसे ईष्या करते हैं. उन्होंने लिखा है, "बच्चे और यहां तक कि बड़े भी मेरे परिवार पर उंगलियां उठाते रहे हैं."

रिश्तेदारों की समस्या

परिवार के अंदर भी मुश्किलें होती हैं. परिवार का हर सदस्य और रिश्तेदार वो सारी सुख सुविधाएं चाहता है जो अरबपति को उपबल्ध होती हैं. कोई ये सोचने की कोशिश नहीं करता कि उन सुविधाओं को पाने के लिए उसने सालों संघर्ष या मेहनत की होगी.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

अरबपति दंपति की संतान ने हमें लिखा है, "बहुत लोग इसे नहीं समझते हैं. मेरे पिता लग्ज़री वाला जीवन जीते हैं. वे 60 साल के हैं. दस साल पहले वे लग्ज़री वाला जीवन नहीं जीते थे. वे सप्ताह में 80 घंटे से ज़्यादा काम करते हैं. तो परिवार के कुछ लोग और दूसरे भी सोचते हैं कि उनके जैसी सारी सुविधाएं चाहिए. दुखद सच्चाई ये है कि कई बार परिवार के दूसरे सदस्यों को नाम मात्र के काम पर वेतन देते रहना पड़ता है, जिससे वो चुप रहें."

इसके अलावा एक शाश्वत सत्य भी है. आपके पास पैसा कितना भी पैसा क्यों ना हो, मौत पर आपका नियंत्रण नहीं है, फिर आप चाहे अरबपति ही क्यों न हों.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढ़ें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार