आईएस के ख़िलाफ़ जंग हार नहीं रहे हैं: ओबामा

इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने माना है कि सीरिया में पल्माइरा और इराक़ के रामादी शहर में आईएस चरमपंथियों की जीत अमरीका के लिए 'बड़ा धक्का' है.

लेकिन उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया है कि अमरीका आईएस के ख़िलाफ़ जंग में हार नहीं रहा है.

एक पत्रिका को दिए गए इंटरव्यू में राष्ट्रपति ओबामा ने ये बातें कहीं.

अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि इराक़ को और मदद दी जाएगी और ख़ास तौर से सुन्नी इलाकों में सैन्य प्रशिक्षण को बढ़ाया जाएगा.

पल्माइरा पर आईएस का नियंत्रण होने के बाद वहां रहने वालों का कहना है कि जिहादी सरकार समर्थक लड़ाकों के सिर सरे आम कलम कर रहे हैं.

दूसरी तरफ़ अमरीकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मैरी हार्फ का कहना है कि अमरीका के पास आईएस से निपटने के लिए स्पष्ट रणनीति है.

उन्होंने कहा, "हमारे पास एक स्पष्ट रणनीति है जो ठीक है और आखिरकार हमें हमारे मकसद को हासिल करने में मदद करेगी."

"इराक में हमने रामादी के बारे में बात की है. और वो एक गंभीर असफलता है. हमने इराक़ के बहुत सारे क्षेत्र से चरमपंथियों को हटाने में सफलतापूर्वक मदद की है लेकिन इतने लंबे अर्से से चले आ रहे विवाद में कुछ दिन ऐसे भी होंगे जैसे हमने रामादी में देखे, उतार चढ़ाव तो होंगे ही लेकिन हमारा मानना है कि हमारी रणनीति उचित है और इसी तरह से आगे बढ़ना ठीक रहेगा."

इराक़ और सीरिया के बड़े इलाके पर आईएस का नियंत्रण है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )