पांच साल नहीं बढ़ेगा ब्रितानी मंत्रियों का वेतन

इमेज कॉपीरइट AP

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने घोषणा की है कि उनके मंत्रियों का वेतन अगले पांच साल तक नहीं बढ़ेगा.

कैमरन ने कहा कि मंत्रियों का वेतन नहीं बढ़ाने का फ़ैसला क़र्ज़ की समस्या से निपटने के लिए लिया गया है.

'संडे टाइम्स' में उन्होंने लिखा, ''देश का क़र्ज़ उतारने के लिए हम सब साथ हैं.''

इससे हर साल आठ लाख पाउंड (क़रीब आठ करोड़ रुपए) और 2020 तक 40 लाख पाउंड (क़रीब 40 करोड़ रुपए) बचाए जा सकेंगे.

कैबिनेट मंत्रियों को फिलहाल सालाना 1.34 लाख पाउंड (क़रीब 1.32 करोड़ रुपए) तनख्वाह मिलती है. वहीं कैमरन की सालाना तनख्वाह 1.42 लाख पाउंड (क़रीब 1.40 करोड़ रुपए) है.

आधी भरपाई

इमेज कॉपीरइट PA

उन्होंने आगे कहा, ''हम यह नहीं दिखा सकते कि अब सब कुछ सही हो गया है. हमने घाटे की आधी भरपाई कर दी है लेकिन आधी अभी बाक़ी है.''

कैमरन ने कहा कि इस फ़ैसले से वह यह संदेश देना चाहते हैं कि देश के लिए 'हम सब अपना योगदान देते रहेंगे.'

वहीं दूसरी तरफ ब्रिटेन के 650 सांसदों का वेतन 9 प्रतिशत बढ़ सकता है.

एक स्वतंत्र संगठन, इंडिपेंडेंट पार्लियामेंट्री स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी (आईपीएसए) ने सिफ़ारिश की थी कि सांसदों का वेतन सालाना 67,060 पाउंड (क़रीब 65 लाख रुपए) से बढ़ाकर 74 हज़ार पाउंड (क़रीब 72 लाख रुपए) कर दिया जाए.

हालांकि सरकार ने साफ़ किया है कि यह सिफ़ारिश 'सही नहीं' है और इस पर पुनर्विचार होना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार