अजब गजब थीम पर रेस्तरां...

हेलो किटी रेस्तरॉं, ताइवान इमेज कॉपीरइट

ताईवान में हाल ही में कुछ बेहद अजीब रेस्तरॉं खुले हैं जो टॉयलेट्स से लेकर भालू की गुफ़ा तक के विषय पर आधारित हैं.

ताईवान के खाने के बाज़ार में तगड़ी प्रतियोगिता के चलते रेस्तरॉं को नए-नए तरीके अपनाने पड़ रहे हैं और तो और अब कुछ होटल भी इसमें हाथ आज़मा रहे हैं.

इनमें से कुछ जगहें तो न सिर्फ़ बेहद मनोरंजक हैं बल्कि अच्छा व्यापार भी कर रही हैं.

खाना और मस्ती

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

ताइचुंग शहर में स्टीवन वू के रेड डॉट होटल में स्टेनलेस स्टील की 1,50,000 डॉलर (95,89,567 रुपये से ज़्यादा) की लागत से बनी 27 मीटर लंबी फ़िसलपट्टी है जो दूसरे माले से सीधे लॉबी में पहुंचा देती है.

लंदन स्कूल ऑफ़ आर्किटेक्चर से इंटीरियर डिज़ाइन पढ़ने वाले वू चाहते थे कि उनके मेहमान मस्ती करें.

"मैं सोच रहा था कि कला और वास्तुकला को कैसे मिलाऊं. मुझे लगता था कि मैं ऐसी चीज़ ख़रीद नहीं पाऊंगा इसलिए मैंने इसे डिज़ाइन कर लिया."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

पिछले साल जुलाई में खुलने से बाद से उनका होटल पैसे बना रहा है और यह मुख्यतः फ़िसलपट्टी की वजह से है. वू कहते हैं कि उनके ग्राहकों में 40% परिवार होते हैं.

दूसरे माले पर मेहमानों को परेशानी से बचाने के लिए यह फ़िसलपट्टी सिर्फ़ सुबह 11 बजे से दोपहर तक और फिर शाम तीन बजे से छह बजे तक खोली जाती है. चेकआउट डेस्क तक पहुंचने के लिए आप लिफ़्ट के बजाय इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

हेलो किटी

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

जिस व्यक्ति के पास एशिया के सबसे मशहूर बिल्ली- हेलो किटी- को समर्पित रेस्तरां खोलने के लिए 10 लाख डॉलर (करीब 6,39,49,950 रुपये) हों वह ज़रूर इस बिल्ली का बड़ा प्रशंसक होगा.

लेकिन शुरुआत में ताइपे में हेलो किटी किचन और डाइनिंग रेस्तरां के मालिक हेनरी चियु उसके प्रशंसक नहीं थे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

वह बताते हैं, "मेरी उनकी बीवी हेलो किटी को पसंद करती थी और एक इंटीरियर डिज़ाइनर होने के नाते मैं ऐसा माहौल बनाना चाहता था जिससे लोगों को हेलो किटी जैसा अहसास हो."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

उनका रेस्तरॉं छोटी बच्चियों और महिलाओं दोनों के बीच लोकप्रिय है और अब चियु भी उसके प्रशंसक बन गए हैं.

कार्डबोर्ड पर बैठो, कार्डबोर्ड में खाओ

कार्टून किंग में ग्राहक कार्डबोर्ड की बनी कुर्सियों पर बैठते हैं, कार्डबोर्ड प्लेटों पर परोसा गया खाना खाते हैं और कार्डबोर्ड कपों से पीते हैं.

और तो और वहां एक कागज़ का हॉटपॉट भी है जिसे स्टोव पर रखा जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

नालीदार कार्डबोर्ड बहुत मजबूत है और हर कुर्सी पर 150 किलो वजन तक के दो वयस्क बैठ सकते हैं. रेस्तरां का ज़्यादातर सामान अग्निरोधक है या फिर उस पर आग से बचाने वाला पेंट किया गया है.

इसके मालिक हुआंग फांग-लियांग लपेटने और पैकिंग के लिए कागज़ डिज़ाइन और तैयार किया करते थे. उन्होंने अपनी फ़ैक्ट्री में एक हिस्सा इसलिए रखा था ताकि वह उन रचनात्मक चीज़ों को दिखा सकें जो वह बना सकते थे.

हुआंग कहते हैं, "लोग इसे देखने आते थे और खाना चाहते थे, इसलिए हमने एक रेस्तरॉं खोल दिया."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सिर्फ़ आठ साल के वक्त में उन्होंने 12 कार्टून किंग रेस्तरॉं खोल दिए हैं जिनमें से कुछ चीन में भी हैं. और वह पैसा कमा रहे हैं.

इसकी संचालन लागत कम है क्योंकि कार्डबोर्ड के सामान को सस्ते में बदला जा सकता है और रीसाइकिल किया जा सकता है. और तो और कार्डबोर्ड की प्लेटों और कटोरियों को भी धोकर फिर इस्तेमाल किया जा सकता है.

टॉयलेट में खाना

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

ताइपे के ज़िमेन्डिंग ज़िले में मॉडर्न टॉयलेट रेस्तरां में ग्राहक टॉयलेट सीट पर बैठते हैं और टेबल में बदल दिए गए बाथटब या सिंक पर खाते हैं.

वह छोटी टॉयलेट सीट पर उकड़ूं होकर बैठते हैं और मूत्रपात्र जैसे बरतन से पीते हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

यहां आइसक्रीम मल की तरह दिखती है और शेव्ड आइस ऐसी दिखती है जैसे किसी को दस्त हो गए हों.

इसके मैनेजर जो लियु कहते हैं, "अक्सर होता यह है कि इस रेस्तरॉं को सिर्फ़ तस्वीरें लेने वाले रेस्तरॉं के रूप में देखा जाता है, इसिलए मैं खाने पर बहुत ध्यान देता हूं. मैं चाहता हूं कि यह अपनी थीम जैसा दिखे और साथ ही स्वादिष्ट भी हो."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

इनके ग्राहक ज़्यादातर पर्यटक होते हैं, विशेषकर सिंगापुर, फ़िलीपीन्स और मलेशिया से.

उन्हें पसंद आने के लिए लियु ऐसा खाना बनाने की तैयारी कर रहे हैं जो उनके और टॉयलेट थीम दोनों के अनुसार हो, जैसे कि सिंगापुरी लक्सा- एक तीखी कोकोनट सूप वाली नूडल डिश.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

आप बस कल्पना ही कर सकते हैं कि यह कैसी दिखेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार