पाकिस्तान में यात्री फिर बने निशाना

पाकिस्तान में चरमपंथी इमेज कॉपीरइट Getty

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में दो बसों पर बंदूकधारियों के हमले में कम से कम 19 यात्रियों की मौत हो गई है.

यह घटना सूबे की राजधानी क्वेटा के दक्षिण में स्थित मस्तंग शहर के क़रीब हुई.

बलूचिस्तान के गृह मंत्री सरफ़राज़ बुगती ने कहा कि अज्ञात बंदूकधारी शुक्रवार शाम कराची जा रही इन बसों में सवार हो गए थे.

बुगती ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया है कि हमलावरों ने सेना की वर्दी पहनी हुई थी.

अधिकारियों के मुताबिक बंदूकधारियों ने यात्रियों को बसों से उतारा और उन्हें गोली मार दी.

मुठभेड़

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हाल में कराची में बस में हुए हमले में कई लोग मारे गए थे

अधिकारियों का कहना है कि घटना की जानकारी मिलते ही सुरक्षा बलों को तुरंत वहां भेजा गया और कम से कम पांच लोगों को बचाया गया है.

डॉन अख़बार के मुताबिक़ बंदूकधारियों ने कितने लोगों को बंधक बनाया है अभी यह साफ़ नहीं है.

हमलावरों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है.

एक स्थानीय अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि हमले में मारे गए अधिकांश लोग पख्तून हैं और उनका संबंध उत्तरी बलूचिस्तान से था.

पश्तूनों पर हमला

इस्लामाबाद में मौजूद बीबीसी के एम इलियास ख़ान का कहना है कि अलगाववादी अक्सर सरकारी और सैन्य ठिकानों को निशाना बनाते हैं और पश्तूनों पर हमला कम ही होते हैं.

उन्होंने कहा कि अधिकारियों का मानना है कि अलगाववादियों की यह चाल इसलिए चली है ताकि सुरक्षा बलों पर दबाव बना जा सके.

बलूचिस्तान में अलगाववादियों और सुरक्षा बलों के बीच लंबे समय से खूनी संघर्ष चल रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार