नासा के पास क्यों हैं इतने फ़ाइटर विमान?

इमेज कॉपीरइट BBC FUTURE

हाल ही में आए एक नए वीडियो में नासा के पायलट को अपने फ़ाइटर विमान एफ़-15डी में हवा में उड़ान के दौरान ईंधन भरते दिखाया गया है.

ये वीडियो कॉकपिट से बनाया गया. ऐसे में एक सवाल ये उठता है कि आखिर नासा जैसी अंतरिक्ष एजेंसी को फ़ाइटर विमान के बेड़े की क्या ज़रूरत है?

इन विमानों को वे 'चेज़ प्लेन' कहते हैं. इन विमानों का उपयोग मोटे तौर पर अमरीकी वायु सेना, नौ सेना और मरीन कोर के जवान करते हैं.

पायलट बनते हैं अंतरिक्ष यात्री

लेकिन इनका इस्तेमाल एक अलग मिशन के लिए भी हो रहा है- ये पायलट को अंतरिक्ष यात्री में तब्दील करते हैं.

इमेज कॉपीरइट usaf

यही नहीं, ये नासा के स्पेसक्राफ्ट और एक्सपेरिमेंटल एयरक्राफ्ट पर नज़र भी रखते हैं.

नासा का नया वीडियो 27 मई को जारी हुआ जिसमें दिखाया गया है कि एफ़-15डी ईगल फ़ाइटर विमान का पायलट अपने विमान को केसी-135 टैंकर के नीचे पोज़ीशन करता है और फिर ईंधन भरता है.

ऐसा प्रशिक्षण लंबी दूरी के मिशन के दौरान ज़रूरत पड़ने को ध्यान में रखते हुए किया जाता है.

1960 से हैं बेड़े में

इमेज कॉपीरइट nasa

वैसे नासा के लिए ये कोई नई बात नहीं है. चेज़ प्लेन नासा के बेड़े में शुरुआती दौर से ही शामिल हैं. 1960 के दशक में रॉकेट के आकार वाले एफ़-104 स्टार फ़ाइटर विमान नासा के बेड़े में थे.

चक येगर पहले ऐसे वायुसेना के पायलट थे जिन्होंने हवा से भी तेज़ गति से विमान उड़ाया था. यानी साउंड बैरियर तोड़ा था. यह कारनामा उन्होंने 1947 में नासा के टेस्ट मिशन के दौरान ही किया था.

इमेज कॉपीरइट nasa

वैसे चेज़ प्लेन का इस्तेमाल नासा अपने दूसरे वाहनों की निगरानी करने के लिए भी करता है. टेस्ट फ्लाइट के दौरान पायलट इन फ़्लाइट्स पर नज़र रखते हैं और लड़ाकू विमान कैमरा प्लेटफॉर्म की तरह भी काम करते हैं.

नासा, 1960 से ही टी-38 प्रशिक्षकों की टीम से काम लेता है. लैंडिंग के समय टी-38 स्पेस शटल के साथ-साथ, उसकी निगरानी करते हुए चलता है.

इस बेड़े में कई एफ़-15 विमान शामिल हैं. इसमें अमरीकी नौ सेना के एफ़/ए-18 भी शामिल हैं.

इनका इस्तेमाल टेस्ट फ्लाइट रिकॉर्डिंग के लिए किया जाता है और भविष्य के अंतरिक्ष यात्रियों को फ्लाइंग कुशलता भी सिखाई जाती है.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी फ़्यूचर पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार