अब ब्लैटर भी एफ़बीआई जाँच के दायरे में

सेप ब्लेटर इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक फ़ीफ़ा अध्यक्ष पद से इस्तीफ़े का ऐलान करने वाले सेप ब्लेटर भी अब एफ़बीआई की जाँच के दायरे में हैं.

रिपोर्टों के मुताबिक जाँच एजेंसी गिरफ़्त में आए फ़ीफ़ा अधिकारियों से मिले सबूतों के आधार पर ब्लैटर के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर सकती है.

बीते सप्ताह ही पाँचवी बार फ़ीफ़ा अध्यक्ष चुने गए सेप ब्लैटर ने मंगलवार को ही अध्यक्ष पद छोड़ने का ऐलान किया है.

ब्लैटर ने ज्यूरिख़ में एक प्रेस कांफ्रेस में उन्होंने अपने इस्तीफ़े की घोषणा की.

छह दिन पहले ही अमरीकी जांच एजेंसी एफबीआई ने एक होटल पर छापा मार कर भ्रष्टाचार के आरोपों में फ़ीफ़ा के कई अधिकारियों को गिरफ़्तार किया था.

ब्लैटर ने कहा कि उनके उत्तराधिकारी का चुनाव एक आपात बैठक में किया जाएगा. नया अध्यक्ष चुने जाने तक ब्लैटर फ़ीफ़ा के अध्यक्ष बने रहेंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ब्लैटर चार दिन पहले ही पाँचवी बार फ़ीफ़ा अध्यक्ष चुने गए थे.

79 वर्षीय स्विस नागरिक सेप ब्लैटर ने अपने इस्तीफ़े का ऐलान करते हुए कहा, "लगता है मेरे चुनाव को सबका समर्थन प्राप्त नहीं है."

उन्होंने कहा, "मैं ग़हराई से फ़ीफ़ा और उसके हितों से जुड़ा हुआ हूँ और वे हित मुझे बहुत प्रिय हैं. इसलिए ही मैं ये फ़ैसला ले रहा हूँ."

उन्होंने कहा, "फ़ीफ़ा का संस्थान और दुनियाभर में फ़ुटबॉल मेरे लिए सबसे ज़्यादा मायने रखते हैं."

अमरीका में भ्रष्टाचार के आरोपों में फ़ीफ़ा के 14 अधिकारियों पर मुक़दमा चल रहा है.

स्विस पुलिस ने भी एक आपराधिक जाँच शुरू की है. इसमें 2018 और 2022 विश्व कपों की मेजबानी देने की प्रक्रिया में भ्रष्टाचार के आरोपों की जाँच की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)