सद्दाम के सहयोगी तारिक़ अज़ीज़ का निधन

इमेज कॉपीरइट

अधिकारियों का कहना है कि सद्दाम हुसैन शासनकाल का चेहरा माने जाने वाले तारिक़ अज़ीज़ की इराक़ी जेल में मौत हो गई है.

79 साल के तारिक़ अज़ीज़ इराक़ के विदेश मंत्री और उप प्रधानमंत्री थे. वे सद्दाम हुसैन ने करीबी सलाहकार थे.

2010 में इराक़ के सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें मौत की सज़ा सुनाई थी लेकिन इस पर अमल नहीं हुआ. उन पर सद्दाम के शासन के दौरान धार्मिक पार्टियों के शोषण का आरोप था.

अमरीकी सेना के हमले के बाद 2003 में तारिक़ अज़ीज़ ने अमरीकी सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था.

खाड़ी युद्ध से आए सु्र्खियों में

काले घेरे वाले चश्मे और सिगार के लिए जाने जाने वाले अज़ीज़ तब सुर्खियों में आए थे जब खाड़ी युद्ध के दौरान 1991 में वे विदेश मंत्री थे.

सुन्नी सरकार में वे ईसाई नेता थे. वे सद्दाम हुसैन के अंदरूणी सर्कल का हिस्सा नहीं माने जाते थे.

लेकिन 2003 में इराक़ पर अमरीकी हमले से पहले उन्होंने अहम रोल निभाया. वे शांति स्थापित करने की गुहार लेकर वैटिकन में पोप से भी मिले थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)