लिंग प्रतिरोपण के बाद मिला बाप बनने का सुख

इमेज कॉपीरइट Stellenboshc
Image caption नौ घंटे तक चला था लिंग प्रत्यारोपण का आप्रेशन

दुनिया में जिस व्यक्ति का सबसे पहला लिंग प्रतिरोपण हुआ था वो बाप बनने वाला है.

उस व्यक्ति का आपरेशन करने वाले सर्जन डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने बीबीसी से कहा कि उस व्यक्ति की गर्लफ्रेंड चार माह की गर्भवती है.

डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने कहा कि इसका मतलब है ‘लिंग प्रतिरोपण कामयाब रहा’.

दान में लिंग

21-साल के नौजवान का ख़तना हुआ था जो ख़राब हो गया जिसकी वजह से उसका लिंग नष्ट हो गया था.

दक्षिण अफ़्रीक़ा के निवासी इस युवक का लिंग प्रतिरोपण दिसंबर महीने में किया गया था.

हालांकि उसका नाम गुप्त रखा गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption दक्षिण अफ़्रीक़ा में ख़तने का समारोह

स्टेलेनबॉश विश्वविद्यालय और टाइगुरबर्ग अस्पताल के सर्जनों को इस आपरेशन में नौ घंटे का लंबा समय लगा था.

दक्षिण अफ़्रीक़ी नौजवान पर जिस लिंग का प्रतिरोपण हुआ था वो उसे दान में दिया गया था.

'शक़ की गुंजाइश नहीं'

डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने कहा कि वो इस ख़बर से बहुत ख़ुश हैं कि उस व्यक्ति की गर्लफ्रेंड गर्भवती है और उन्होंने पितृत्व परीक्षण की ज़रूरत इसलिए नहीं समझी क्योंकि इस मामले में शक की कोई वजह नहीं नज़र आती है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने कहा ‘लिंग प्रत्यारोपण कामयाब रहा’

डॉक्टर आंद्रे फन डेर मैरवे ने बीबीसी से कहा, “हम यही चाहते थे, कि वो सामान्य व्यक्ति की तरह जिए, पेशाब कर पाए, संभोग कर सके, इसलिए ये उसके जीवन में एक तरह से मील का पत्थर है.”

उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति को प्रतिरोपण किया गया था उसमें बच्चा पैदा कर पाने में किसी तरह की अयोग्यता का सवाल ही नहीं था क्योंकि ख़राबी उसके लिंग में आई थी न कि उसके अंडकोष में.

ख़तने में ख़राबी के बाद भी उस व्यक्ति के लिंग का क़रीब इंच भर ठीक तरह से काम कर रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार