नेपोलियन के आख़िरी तोहफ़े की नीलामी

इमेज कॉपीरइट Sothebys

नेपोलियन बोनापार्ट की अपने बेटे को आख़िरी तोहफ़े के रूप में दी गई पिस्तौलों की जोड़ी अगले महीने नीलाम होने जा रही है.

मशहूर नीलामी घर सॉदबी 8 जुलाई को लंदन में इन्हें नीलाम करेगा. उम्मीद की जा रही है कि इनकी क़ीमत सात से 11 करोड़ रुपए के बीच लगेगी.

सॉदबी का कहना है कि पिस्तौलों की ये जोड़ी 1814 की हैं. इन्हें फ्रांस के शासक नेपोलियन ने उस वक़्त तीन साल के अपने बेटे को उपहार के तौर पर दिया था.

स्वर्णजड़ित इन पिस्तौलों पर नेपोलियन का शाही प्रतीक ईगल और इटली का आयरन क्राउन बना हुआ है.

नेपोलियन को युद्ध में हारने के बाद एल्बा द्वीप पर निर्वासन में रहना पड़ा था.

त्रासदी की प्रतीक

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption 1815 में वाटरलू की लड़ाई में हारने के बाद नेपोलियन को सेंट हेलेना द्वीप पर बंदी बना लिया गया था जहां 1821 में उनकी मृत्यु हो गई.

यूरोपीय शिल्पकला के विशेषज्ञ क्रिस्टोफर मैसन ने कहा, "ये बहुमूल्य चीजें नेपोलियन की निजी ज़िंदगी की महान त्रासदी की प्रतीक हैं. उन्होंने अपने बेटे और उत्तराधिकारी को आख़िरी बार जनवरी 1814 में देखा था. इसके बाद उनके राजवंश को फलते-फुलते देखने की उम्मीद समाप्त हो गई थी."

वे बताते हैं, "इसके एक हफ्ते के अंदर वे लड़ाई में पराजित हुए और उन्हें एल्बा द्वीप पर निर्वासन में रहना पड़ा. इसके एक साल बाद उन्हें वाटरलू की लड़ाई में निर्णायक रूप से हार झेलनी पड़ी थी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार