विकीलीक्स पर सऊदी अरब की चेतावनी

सऊदी ट्विटर इमेज कॉपीरइट Twitter
Image caption सऊदी के विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर नागरिकों से दस्तावेज़ ना पढ़ने के लिए कहा है.

सऊदी अरब ने अपने नागरिकों से विकीलीक्स की ओर से जारी किए गए उससे संबंधित दस्तावेज़ों को न पढ़ने के लिए कहा है.

सऊदी अरब ने कहा है कि ये दस्तावेज़ फ़र्ज़ी हो सकते हैं.

विकीलीक्स ने सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय से संबंधित क़रीब साठ हज़ार दस्तावेज़ जारी कर दिए हैं.

सऊदी के विदेश मंत्रालय ने ट्विटर के ज़रिए इन दस्तवेज़ों को ना पढ़ने की चेतावनी जारी की है.

आर्थिक ताक़त

सऊदी अरब के भीतर और बाहर लोग इन दस्तावेज़ों को खोज-खोज कर पढ़ रहे हैं.

विकीलीक्स का कहना है कि ये दस्तावेज़ बताते हैं कि सऊदी अरब ने किस तरह अपनी आर्थिक और राजनीतिक शक्ति का इस्तेमाल कर मीडिया को नियंत्रित किया.

विकीलीक्स का कहना है कि वह सऊदी से संबंधित पाँच लाख दस्तावेज़ अगले कुछ सप्ताह के भीतर जारी करेगी.

इमेज कॉपीरइट WikiLeaks
Image caption विकीलीक्स का कहना है कि वह अभी और भी दस्तावेज़ प्रकाशित करेगा.

अख़बार में प्रकाशन

लेबनान के सीरिया समर्थक वामपंथी और राष्ट्रवादी समाचारपत्र अल-अख़बार का कहना है कि वह इन दस्तावेज़ों को प्रकाशित करेगा.

अख़बार ने ट्वीट किया, "कल से विकीलीक्स के सऊदी दस्तावेज़ अल अख़बार प्रकाशित करेगा."

हालांकि अभी तक प्रकाशित दस्तावेज़ों में कोई बड़ा खुलासा नहीं हुआ है.

लेकिन इन दस्तावेज़ों के प्रकाशन से सऊदी अरब और ब्रिटेन और अमरीका जैसे उसके सहयोगी देशों को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ सकता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के इक्वाडोर के दूतावास में शरण लेने के तीन साल हो गए हैं.

असांज के तीन साल

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के लंदन में इक्वाडोर के दूतावास में शरण लेने के तीन साल पूरे होने पर ये दस्तावेज़ जारी किए गए हैं.

विकीलीक्स का कहना है कि वह और भी दस्तावेज़ प्रकाशित करेगी.

हालांकि अभी ये स्पष्ट नहीं है कि विकीलीक्स को ये दस्तावेज़ कहा से मिले.

इन्हें सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय पर सीरिया समर्थक हैकरों के हमले से जोड़कर भी देखा जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार