आईएसआई हमले में अमरीकी नागरिक को सज़ा

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

लाहौर में छह साल पहले पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के दफ़्तर पर आत्मघाती हमले के सिलसिले में एक अमरीकी अदालत ने एक अमरीकी नागरिक को साढ़े सात साल की सज़ा सुनाई है.

अमरीकी राज्य ओरेगन के पोर्टलैंड शहर में रहने वाले 51 वर्षीय रियाज़ कादिर ख़ान को हमलावरों की आर्थिक सहायता करने के जुर्म में ये सज़ा दी गई है.

रियाज़ क़ादिर पर मई 2013 में आरोप तय किए गए थे और उन्होंने इस साल फरवरी में चरमपंथियों की मदद करने के आरोपों को स्वीकार कर लिया.

अदालत ने मुक़दमे की सुनवाई के बाद शुक्रवार को सज़ा की घोषणा की.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार ने रियाज़ कादिर ने स्वीकार किया कि उन्होंने मालदीव के एक नागरिक अली जलील को लगभग ढाई हज़ार डॉलर मुहैया कराए थे.

27 मई 2009 को लाहौर में आईएसआई के दफ़्तर पर हुए हमले में 30 लोग मारे गए थे और 300 से ज़्यादा घायल हुए थे.

आरोप पत्र के अनुसार इस हमले की योजना दिसंबर 2005 में बनाई गई थी और इसे अली जलील समेत तीन लोगों ने अंजाम दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)