नस्लवाद अमरीकी लोगों के डीएनए में: ओबामा

बराक ओबामा, रेडियो इमेज कॉपीरइट PETE SOUZA

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने माना है कि उनक देश अब भी नस्लवाद से उबरा नहीं है.

एक रेडियो इंटरव्यू में राष्ट्रपति ओबामा ने ये बात कही.

इस दौरान उन्होंने ‘निगर’ यानी हब्शी (काले लोगों के लिए प्रयोग किए जाने वाला शब्द) शब्द का इस्तेमाल किया.

हाल ही में एक अमरीकी युवा ने दक्षिणी कैरोलाइना की एक चर्च में अंधाधुंध गोली चला कर 9 अफ्रीकी अमरीकी लोगों की हत्या कर दी थी.

पुलिस का मानना है कि ये गोलीबारी करने वाला शख्स नस्लभेदी सोच से प्रभावित था.

पहले से बेहतर

इमेज कॉपीरइट epa

सोमवार को प्रसारित इंटरव्यू में हास्य अभिनेता मार्क मेरॉन ने राष्ट्रपति ओबामा से बात की है.

इंटरव्यू में ओबामा ने कहा है, ’’यह सिर्फ खुल्लमखुल्ला भेदभाव का मसला नहीं है. समाज रातों रात उन सब को नहीं मिटा पाता है जो पीछे के 200-300 सालों में हुआ हो.’’

अमरीकी राष्ट्रपति ने ये माना कि नस्ल को लेकर अमरीका में हालात उनके बचपन की तुलना में बेहतर हुए हैं.

हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि काले लोगों को दास प्रथा वाले अमरीकी इतिहास की, ’’लंबी छाया है जो अब भी हमारे डीएनए का हिस्सा है और जो आगे बढ़ रहा है.’’

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार