लखवी पर चीन के रुख से चिंता में भारत

जकीउर रहमान लखवी इमेज कॉपीरइट Getty

संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रस्ताव को चीन की ओर से रोके जाने के बाद भारत ने चीन के साथ "उच्च्तम राजनैतिक स्तर" पर यह मामला उठाया है.

मुंबई हमलों के कथित ज़िम्मेदार ज़कीउर रहमान लखवी की रिहाई पर कार्रवाई के लिए ये प्रस्ताव भारत की तरफ से रखा गया.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने इस बारे में कहा, "सरकार ने ज़कीउर रहमान लखवी के सिलसिले में प्रतिबंध समिति के 1267 कानून के उल्लंघन का मामला उठाया था. हमने प्रतिबंध समिति के अध्यक्ष को अपनी चिंताओं से अवगत करा दिया है. इसके अलावा हमने समिति के अन्य सदस्य देशों के साथ द्विपक्षीय स्तर पर भी यह मामला उठाया है. "

उन्होंने ये भी कहा,"चीन के मामले में यह मुद्दा उच्च्तम राजनैतिक स्तर पर उठाया गया है."

चीन ने रोका प्रस्ताव

इमेज कॉपीरइट AFP

संयुक्त राष्ट्र में चीन ने भारत के प्रस्ताव को आगे बढ़ने से रोक दिया है.

इस प्रस्ताव में मुंबई हमलों के ज़िम्मेदार चरमपंथी ज़कीउर्रहमान लखवी को रिहा करने के लिए पाकिस्तान के खिलाफ़ कार्रवाई की मांग की गई थी.

भारत का कहना है कि इस रिहाई से संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध समिति के कानून 1267 का उल्लंघन हुआ है.

समिति की बैठक में पाकिस्तान से पूछा जाना था कि मुंबई हमलों के सिलसिले में गिरफ़तार लखवी जेल से रिहा क्यूं कर दिया गया.

भारत ने याद दिलाया है कि सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति के 1267 कानून का पालन करना हर सदस्य देश के लिए जरूरी है.

यह समिति चरमपंथी संगठनों और उनसे जुड़े चरमपंथियों पर प्रतिबंध लगाती है.

भारत की मांग पर संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध समिति की बैठक बुलाई गई थी. बैठक में भारत की ओर से प्रस्ताव रखा गया था.

चीन ने इस प्रस्ताव को यह कह कर ब्लॉक कर दिया कि भारत ने इस मामले में पूरी जानकारी मुहैया नहीं कराई है.

कई देशों को चिंता

इमेज कॉपीरइट EPA

चीन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के वीटो-धारक स्थाई सदस्य की हैसियत से प्रतिबंध समिति का भी सदस्य है.

अप्रैल महीने में लशकर-ए-तैयबा के चरमपंथी 55 वर्षीय लखवी को पाकिस्तान के रावलपिंडी में स्थित अदियाला जेल से रिहा कर दिया गया था.

लखवी की रिहाई पर अमरीका समेत रूस ब्रिटेन और फ़्रांस ने भी चिंता जताई थी. अमरीका ने यह भी कहा था कि लखवी को फिर से गिरफ़्तार किया जाना चाहिए.

मुंबई हमलों की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने के आरोप में लखवी को सन 2008 में गिरफ़्तार किया गया था.

मुंबई हमलों में 166 लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार