बॉबी जिंदल भी राष्ट्रपति पद की रेस में

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राज्य लुइज़ियाना के गवर्नर बॉबी जिंदल ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपनी दावेदारी पेश की है.

भारतीय मूल के अमरीकी जिंदल ने बुधवार को न्यू आरलिएंस में रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी पाने के लिए मैदान में उतरने का एलान किया.

रिपब्लिकन बॉबी जिंदल ने कहा, "मैं वॉशिंगटन में मुख्यालय से आज्ञा लिए बगैर राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए चुनाव लड़ रहा हूं."

पहली बार किसी भारतीय मूल के अमरीकी ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए चुनाव मैदान में औपचारिक तौर पर गंभीरता से लड़ने की घोषणा की है.

अगले साल नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए अब तक रिपब्लिकन पार्टी की तरफ़ से 13 प्रत्याशी मैदान में आ चुके हैं.

अमरीकी में दो मुख्य पार्टियों डेमोक्रेटिक पार्टी और रिपब्लिकन पार्टी की तरफ़ से आधिकारिक तौर पर उम्मीदवारी पाने की प्रक्रिया ख़ासी लंबी और जटिल है.

डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ़ से पूर्व अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन, तो रिपब्लिकन पार्टी की तरफ़ से पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के भाई जेब बुश समेत कई नेता अपनी दावेदारी पेश कर चुके हैं.

हालत पतली

जिंदल का कहना है कि अगर वह राष्ट्रपति बने तो वह स्वास्थ्य, रक्षा और शिक्षा जैसे मुद्दों पर नीतियों में बदलाव लाएंगे.

लेकिन बॉबी जिंदल के लिए राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव तो दूर ख़ुद रिपब्लिकन पार्टी का उम्मीदवार चुना जाना भी बहुत ही मुश्किल लग रहा है.

एक ताज़ा सर्वेक्षण में बॉबी जिंदल को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर सिर्फ एक प्रतिशत रिपब्लिकन पार्टी के वोटरों का समर्थन मिला.

उधर लुइज़ियाना के गवर्नर की हैसियत से भी उनका समर्थन घट रहा है.

बॉबी जिंदल ने दो बार अमरीकी संसद की प्रतिनिधि सभा का चुनाव भी जीता.

बॉबी जिंदल वर्ष 2008 में लुइज़ियाना राज्य के गवर्नर चुने गए थे और 2010 में एक जनमत संग्रह मे जिंदल अमरीका के गवर्नरों में से सबसे लोकप्रिय गवर्नर भी चुने गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार