चीयरलीडिंग शुरू करने वाले का निधन

cheerleaders इमेज कॉपीरइट Getty

चीयरलीडिंग की शुरुआत करने वाले लॉरेन्स हरकिमर की 89 साल की उम्र में मौत हो गई है.

हर्की के नाम से मशहूर लॉरेन्स हरकिमर ने कई चीयरलीडिंग कैम्प स्थापित कर एक सफल उद्योग खड़ा किया था.

उन्होंने ही चीयरलीडरों के हाथ में देखे जाने वाला 'पॉम-पॉम' खोजा था.

चीयरलीडिंग से जुड़े कई लोग हर्की के ट्रेड मार्क स्टाइल में जंप करते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर शेयर कर रहे हैं और लॉरेन्स हरकिमर को श्रद्धांजली दे रहे हैं.

हार्ट स्ट्रोक

इमेज कॉपीरइट EPA

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक बुधवार को 89 वर्ष के लॉरेन्स हरकिमर की मौत हार्ट स्ट्रोक की वजह से हुई.

लॉरेन्स हरकिमर ने टैक्सस के डैलेस स्थित साउथ मैथोडिस्ट यूनीवर्सिटी में पढ़ते हुए, चीयरलीडिरों का राष्ट्रीय संगठन बनाया औऱ एक मैगज़ीन भी निकाली थी.

1948 में स्नातक होने के बाद उन्होंने अपने परिवार के घर में गैरेज से व्यवसाय शुरू किया था.

उधार से कारोबार

इमेज कॉपीरइट Reuters

बताया जाता है कि उन्होंने छह सौ डॉलर उधार लेकर अपना कारोबार शुरु किया था.

उनके पहले कैम्प में 52 लड़कियां और एक लड़का शामिल हुए थे. और दूसरे वर्ष में उन्हें 350 प्रतिभागी मिल गये थे.

जो 'पॉम-पॉम ' आज चीयरलीडरों की पहचान है उसका हरकिमर ने पेटेन्ट भी कराया था.

नेशनल चीयरलीडिंग एसोसिएशन ने उनकी मृत्यु पर शोक जताया है. इस एसोसिएशन की स्थापना हरकिमर ने ही की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार