टयूनीशिया: ये दीवार रोकेगी चरमपंथी हमले

महारानी एलिज़ाबेथ इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ट्यूनीशिया में 26 जून का बड़ा हमला हुआ था, जिसमें 38 लोग मारे गए थे

ट्यूनीशिया ने ऐलान किया है कि वो चरमपंथियों से निपटने के लिए लीबिया से लगने वाली अपनी सीमा पर एक दीवार बनाएगा.

प्रधानमंत्री हबीब एसिद ने सरकारी टीवी पर कहा कि ये दीवार साल 2015 के आख़िर तक तैयार हो जाएगी.

हाल ही में जिस बंदूक़धारी ने ट्यूनीशिया के एक बीच रिसॉर्ट में 38 लोगों की हत्या की थी, उसका प्रशिक्षण लीबिया में ही हुआ था.

ट्यूनीशिया ने पिछले माह हुए हमले के बाद देश में आपातकाल घोषित कर दिया था.

निगरानी केंद्रों से लैस

इमेज कॉपीरइट European Photopress Agency
Image caption होटलों और बीच पर सुरक्षा के लिए 1400 कर्मी लगाए गए हैं.

एसिद ने कहा है कि दीवार बनाने का काम सेना करेगी और इसमें जगह-जगह पर निगरानी केंद्र होंगे.

सूस पर हमले में 38 लोगों की मौत हो गई थी, जिनमें 30 ब्रिटेन के थे. इसके बाद ट्यूनीशिया में में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

बीच और होटलों में 1400 हथियारबंद अधिकारियों की तैनाती की गई है.

प्रधानमंत्री ने पिछले सप्ताह कहा था कि बंदूक़धारी सैफ़ुद्दीन रेज़गुई ने लीबिया में अनसार अल शरिया के साथ ट्रेनिंग की थी.

हालांकि ख़ुद को आईएस कहने वाले समूह ने दावा किया था कि हमले में उसका हाथ है.

ट्यूनीशिया में अगले कुछ दिनों में चरमपंथ निरोधक विधेयक पास किए जाने की भी उम्मीद है.

ये बिल साल 2014 से अधर में है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार