चीन समेत एशिया के शेयर बाज़ार संभले

बुधवार को शेयर बाज़ार पर नज़र रखते निवेशक. इमेज कॉपीरइट AFP

चीन के शेयर बाज़ारों में गुरुवार को भारी उथल-पुथल रही, हालाँकि शुरुआती गिरावट के बाद शंघाई कंपोज़िट इंडेक्स लगभग 6 फ़ीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ.

विश्लेषकों का कहना है कि बड़े निवेशकों पर शेयर बेचने की लगाई गई पाबंदी से बाज़ार को मदद मिल सकती है.

अनैतिक खरीद-फरोख्त

इस बीच, चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने कहा है कि देश के शेयर बाज़ारों में अनैतिक खरीद-फरोख्त की पुलिस जांच कर रही है.

एजेंसी ने कहा है कि अधिकारी उन लोगों का पता लगाएंगे जिन्होंने शेयरों की खरीद-फरोख्त से जुड़े नियमों और दिशा-निर्देशों को तोड़ा.

इमेज कॉपीरइट BBC CHINESE

एशिया के अन्य बाज़ारों में हांगकांग का बेंचमार्क इंडेक्स हेंगसेंग 3.75 फ़ीसदी की बढ़त लेकर बंद हुआ. इसके अलावा जापान का निक्केई और दक्षिण कोरिया का कोस्पी भी बुधवार की गिरावट के बाद संभलता दिखा.

बाज़ार पर बने दबाव को कम करने के लिए चीन के बाज़ार नियामकों ने पिछले हफ़्ते नई नियमों की एक शृंखला लागू की थी. चीन के शेयर बाज़ार में जून के मध्य से 30 फ़ीसदी की गिरावट दर्ज की गई है.

ब्लैक वेडनेसडे

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption बुधवार को शंघाई कंपोजिट इंडेक्स में 8.2 फ़ीसदी की गिरावट आई थी.

बुधवार को चीन समेत एशिया के अधिकतर शेयर बाज़ारों में गिरावट देखी गई थी. सेंसेक्स और निफ्टी में बड़ी गिरावट दर्ज की गई थी.

बाज़ार में गिरावट रोकने के प्रयासों के तहत चीन ने कर्ज़ देने के नियमों में ढील दी है. इससे लोग निवेश के लिए आसानी से कर्ज ले पाएंगे.

चीन की सरकार ने कंपनियों में पांच फ़ीसदी से अधिक शेयर रखने वाले निवेशकों के अगले छह महीने तक शेयर बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार