​सीरिया से 40 लाख लोगों ने किया पलायन

इमेज कॉपीरइट AP

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार सीरिया में जारी हिंसा के कारण वहाँ से क़रीब 40 लाख लोग पलायन कर चुके हैं.

पिछले 10 महीने में सीरिया के क़रीब 10 लाख लोगों ने तुर्की में शरण ली है. वहीं करीब 70 लाख लोगों को सीरिया के अंदर ही विस्थापित होना पड़ा है.

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का कहना है कि सीरिया में पिछले चार साल में हिंसा की वजह से अब तक क़रीब 2.30 लाख लोगों की मौत हो चुकी है.

संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी के प्रमुख एंटोनियो गुटेरिश ने इसे 'इस पीढ़ी का सबसे भीषण मानवीय संकट' क़रार दिया है.

लाखों हुए विस्थापित

इमेज कॉपीरइट EPA

एंटोनियो गुटेरिश कहते हैं कि सीरिया से तुर्की में सबसे ज़्यादा क़रीब 11 लाख शरणार्थी पहुंचे हैं और आने वाले वक़्त में इनकी संख्या बढ़ सकती है.

उन्होंने कहा, ''लेबनान में क़रीब 10.20 लाख और जॉर्डन में साढ़े छह लाख सीरियाई नागरिकों ने शरण ली है."

सीरिया से बड़ी संख्या में लोग यूरोप का भी रुख़ कर रहे हैं और वो भी समुद्र के रास्ते.

2015 में भूमध्य सागर को पार करने वाले 1.37 लाख शरणार्थियों में दो तिहाई सीरिया से थे. कुल मिलाकर करीब 2.7 सीरियाई नागरिकों ने यूरोपीय देशों से शरण मांगी है.

आर्थिक मदद की कमी

इमेज कॉपीरइट EPA

गुटेरिश ने बीबीसी से कहा कि यूरोप को शरणार्थियों की और मदद करने की आवश्यकता होगी, क्योंकि हालात बद से बदतर हो रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संस्था का कहना है कि अगर सीरिया से पलायन का सिलसिया यूं ही चलता रहा तो 2015 के अंत तक शरणार्थियों का आंकड़ा 42.7 लाख तक पहुँच सकता है.

एजेंसी ने कहा है कि उसे जितनी सहायता राशि मिलने का भरोसा दिया गया था, उसका एक चौथाई ही अभी तक मिल पाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार