यमन: गठबंधन सेना ने विद्रोहियों को खदेड़ा

इमेज कॉपीरइट AP

दक्षिणी यमन के अदन शहर में सरकार समर्थित सैनिकौं और हूती विद्रोहियों के बीच भीषण लड़ाई जारी है. सऊदी सरकार के नेतृत्व में गठबंधन सेना ने पड़ोसी शहर मुअल्ला में हवाई हमले किए हैं.

रिपोर्टों के मुताबिक गठबंधन सेना की मदद से लड़ाकों ने मुअल्ला पर कब्ज़ा कर लिया है और हूती विद्रोहियों को पीछे धकेल दिया है.

अदन शहर में हो रहे नुकसान से हूती विद्रोहियों को बड़ा झटका लगा है.

ये हमले उस समय हुए हैं जबकि एक दिन पहले ही अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को गठबंधन सेनाओं ने फिर से अपने नियंत्रण में कर लिया.

इस साल मार्च महीने से ही अदन प्रमुख युद्ध क्षेत्र बना हुआ है जब हूती विद्रोहियों ने राष्ट्रपति अब्दरब्बू मंसूर हादी को देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया था.

हूती विद्रोहियों ने राजधानी सना पर नियंत्रण कर लिया था और राष्ट्रपति हादी को घर में ही नज़रबंद कर दिया था. हादी ने फिलहाल सऊदी अरब की राजधानी रियाद में शरण ले रखी है.

इमेज कॉपीरइट AP

यमन में राष्ट्रपति हादी की सत्ता फिर से बहाल करने के लिए सऊदी अरब के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना हूती विद्रोहियों और उसकी सहायक सेनाओं पर बीते 26 मार्च से ही हवाई हमले कर रहा है.

हूती विद्रोहियों को झटका

इमेज कॉपीरइट Reuters

बताया जा रहा है कि पिछले दो दिनों से छिड़ी भीषण लड़ाई में दर्जनों लड़ाके और आम नागरिक मारे जा चुके हैं. राष्ट्रपति हादी रियाद से ही ‘ऑपरेशन गोल्डेन ऐरो’ अभियान के तहत हूती विद्रोहियों के ख़िलाफ़ हमले की निगरानी कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA

संयुक्त राष्ट्र ने यमन में शुक्रवार से मानवीय आधार पर युद्धविराम की घोषणा की थी लेकिन कुछ ही समय बाद युद्धविराम टूट गया और दोनों पक्षों में भीषण लड़ाई शुरू हो गई.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक पिछले पंद्रह हफ्तों में यमन में चल रही इस लड़ाई में कम से कम 3200 लोग मारे जा चुके हैं जिनमें आधे से ज़्यादा आम नागरिक हैं.

इसके अलावा दस लाख से भी ज़्यादा लोग यमन छोड़ चुके हैं और यमन की दो तिहाई जनसंख्या को इस समय मानवीय सहायता की सख़्त ज़रूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार