मोबाइल चोरी के मामले पर पीएम का बयान !

मलेशिया में बवाल इमेज कॉपीरइट

मलेशिया में मोबाइल चोरी की एक मामूली घटना ने इतना विकराल रूप लिया ले लिया कि यह एक राष्ट्रीय मुद्दा बना, प्रधानमंत्री ने इस पर बयान दिया और इसने देश में सुलग रहे नस्ली तनाव को भी उजागर कर दिया.

11 जुलाई को कुआलालंपुर के एक शॉपिंग मॉल में स्थानीय मलय मूल के दो लोग एक दुकान से मोबाइल चोरी करते हुए गिरफ़्तार हुए. दुकान का मालिक चीनी मूल का था.

इमेज कॉपीरइट Getty

स्ट्रेट्स टाइम्स के पत्रकार शेनोन तिओह ने बीबीसी ट्रेंडिंग को बताया कि जब पकड़े गए एक व्यक्ति को छोड़ा गया तो वो कुछ और लोगों के साथ लौटा और उनकी चीन मूल के दुकानदारों के साथ मारपीट हुई.

फ़ेसबुक पर वीडियो

इस घटनाक्रम का पास खड़े एक व्यक्ति ने वीडियो बनाकर फ़ेसबुक पर डाल दिया जो 8,00,000 बार शेयर हुआ. फिर तो सोशल मीडिया पर चीनी समुदाय के ख़िलाफ़ नस्ली टिप्पणियों की बाढ़ सी आ गई.

प्रधानमंत्री नाजिब रज़ाक ने भी फ़ेसबुक पर चेतावनी देते हुए लिखा कि इसे एक आपराधिक मामले के तौर पर देखना चाहिए, न कि नस्ली समस्या की तरह. उन्होंने भीड़ की मानसिकता से बचने की हिदायत भी दी.

बीबीसी की मॉनीटरिंग सेवा की से यिन ली के मुताबिक़ तनाव की वजह यह है कि कुछ स्थानीय लोग मानते हैं कि अच्छी नौकरियों पर चीन के लोगों का क़ब्ज़ा है और वे मलय लोगों से ज़्यादा कमा रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)