क्यूबा-अमरीका: 54 साल बाद बहाल होंगे संबंध

इमेज कॉपीरइट AP

शीत युद्ध को पीछे छोड़ते हुए, अमरीका और क्यूबा सोमवार को 54 साल के बाद कूटनीतिक संबंध बहाल करेंगे.

अमरीका और क्यूबा एक दूसरे के देश में 1961 में बंद हुए दूतावास फिर खोल रहे हैं.

फिदेल कास्त्रो की अगुआई में हुई क्रांति के दो साल बाद दोनों देशों ने कूटनीतिक संबंधों तोड़ लिए थे और अमरीका ने क्यूबा से किसी तरह के लेन-देन पर प्रतिबंध लगा दिए थे.

बीबीसी संवाददाता केटी वाट्सन के अनुसार, "अरसे से रुका पड़ा संवाद फिर शुरू हुआ है, लेकिन दोनों देशों की राजनीतिक परिस्थितियां अलग अलग हैं."

क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो के अनुसार फिलहाल सामान्य संबंधों की बहाली के लंबे और जटिल रास्ते पर चलने की ये केवल शुरुआत है.

संभावनाएँ और पाबंदियाँ

इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीका और क्यूबा के बीच संबंधों की आशा से ख़ास तौर से क्यूबा के लोगों में उत्साह है और कई अमरीकी निवेशक भी वहां संभावनाएं तलाश रहे हैं.

लेकिन फ़िलहाल अमरीकी नागरिकों और निवेशकों के क्यूबा जाने पर पाबंदी अभी भी बनी हुई है.

क्यूबा पर अब भी ख़ासे अमरीकी प्रतिबंध लगे हुए हैं और उन्हें हटाने के लिए अमरीकी संसद की मंज़ूरी चाहिए होगी.

क्यूबा का कहना है कि व्यापार प्रतिबंधों से उसकी अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है और यदि ये नहीं हटाते तो ये रिश्ता निभाना कठिन ही होगा.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार