यमन में संघर्ष विराम की घोषणा

यमन इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सऊदी अरब के नेतृत्व वाला गठबंधन यमन में विद्रोहियों पर बमबारी पांच दिन के लिए रोक देगा ताकि आम नागरिकों तक राहत और मदद पहुंच सके.

यमन में क्यों हो रही है लड़ाई

सऊदी अरब की आधिकारिक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, संघर्ष विराम रविवार आधी रात से प्रभावी होगा.

लेकिन गठबंधन बल का कहना है कि संघर्ष विराम के दौरान हूथी विद्रोहियों की 'सैन्य हरक़त' होने पर उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जा सकती है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

संघर्ष विराम की ये घोषणा ताइज़ सूबे में हवाई हमलों के बाद हुई है जहां आम लोगों समेत 120 लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

सऊदी अरब का कहना है कि विद्रोही हवाई हमलों से बचने के लिए रिहाइशी इलाकों में पनाह ले रहे हैं.

लेकिन संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि आबादी वाले इलाकों में बमबारी करना अंतरराष्ट्रीय कानून के ख़िलाफ़ है.

ये अप्रत्याशित संघर्ष विराम तब हुआ जब यमन के राष्ट्रपति मंसूर हादी ने सऊदी अरब के शाह सलमान से इसके लिए आग्रह किया.

इस महीने की शुरुआत में भी संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्थता में एक हफ्ते का संघर्ष विराम हुआ था जो विफल हो गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

यमन में लड़ाई के दौरान कम से कम 1693 नागरिक मारे जा चुके हैं जबकि 4000 अन्य घायल हुए हैं.

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि ज्यादातर नुकसान हवाई हमलों की वजह से हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार