ग़द्दाफ़ी के बेटे को मौत की सज़ा

सैफ़ अल इसलाम इमेज कॉपीरइट reuters
Image caption सैफ़ अल इसलाम- फ़ाइल फ़ोटो

लीबिया की एक अदालत ने कर्नल ग़द्दाफ़ी के बेटे सैफ़ अल इस्लाम और सात अन्य लोगों को मौत की सज़ा सुनाई है.

इन सभी लोगों को फ़ायरिंग स्क्वॉड के सामने खड़ा कर गोली मार दी जाएगी.

जिन सात अन्य लोगों को सज़ा सुनाई गई है उनमें गुप्तचर विभाग के पूर्व प्रमुख अब्दल्ला अल सेनुसी और पूर्व प्रधानमंत्री अल बग़दादी अल महमुदी भी शाामिल हैं.

अन्य अभियुक्तों को पांच साल से लेकर आजीवन क़ैद तक की सज़ा दी गई है.

कर्नल ग़द्दाफ़ी के सहयोगियों या करीब़ी कम से कम 30 से भी ज़्यादा ऐसे लोग थे जिनपर मुक़दमा चल रहा था.

सैफ़ अल इस्लाम के वकील ने कहा कि ये मुकदमा ग़ैर-क़ानूनी है. संयुक्त राष्ट्र और मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी ने भी मुकदमे की पूरी प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं.

युद्ध अपराधों के दोषी

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कर्नल गद्दाफी

इन सभी पर युद्ध अपराधों और 2011 में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शनों को दबाने के आरोप थे.

सैफ़ अल इस्ललाम खुद वीड्यो लिंक के ज़रिए अदालत में पेश हुए. उन्हें ज़िन्तान शहर में एक पूर्व विद्रोही दल ने क़ैद कर रखा है.

जब सैफ़ अल इस्लाम को पकड़ा गया था तो कथित तौर पर उनकी तर्जनी उंगली काट दी गई थी

कहा जाता है कि वो बातचीत के दौरान इशारा करने के लिए उसी उंगली का इस्तेमाल करते थे.

कर्नल मोहम्मद ग़द्दाफ़ी 1969 से 2011 तक लीबिया के राष्ट्रपति थे.

अक्तूबर 2011 में लीबिया के गृहयुद्ध के दौरान उन्हें अपदस्थ कर दिया गया था.

कुछ ही महीने बाद उन्हें एनटीसी (नेशनल ट्रांज़िशनल काउंसिल) के चरमपंथियों ने जान से मार दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार