तुर्की में आत्मघाती हमला, दो सैनिक मरे

अलगाववादी कुर्दों का प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Reuters

पूर्वी तुर्की में एक सैन्य पुलिस स्टेशन पर हुए आत्मघाती हमले में दो तुर्क सैनिक मारे गए हैं और 31 घायल हो गए हैं.

क्षेत्रीय गवर्नर के कार्यालय ने कहा है कि कुर्द अलगाववादी संगठन पीकेके ने यह हमला किया है.

तुर्क मीडिया में ख़बरें हैं कि विस्फोटकों से लदे एक ट्रैक्टर से थाने में टकरा कर घटना को अंजाम दिया गया. यह वारदात ईरान से सटे एग्री प्रांत के दोगुबायज़ित शहर की है.

इमेज कॉपीरइट AFP

24 जुलाई से तुर्की ने इराक़-तुर्की सीमा के दोनों तरफ कई हवाई हमले किए हैं. तुर्की ने कहा है कि बीते शुक्रवार को एक पुलिस थाने और रेलवे लाइन को निशाना बनाया गया, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई.

तुर्की का कहना है कि अब तक के हवाई हमलों में 260 कुर्द लड़ाके मारे गए हैं.

'लड़ाके रिहायशी इलाक़ों से हट जाएं'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तुर्की और कई अन्य पश्चिमी देश पीकेके को चरमपंथी समूह मानते हैं.

दूसरी ओर, इराक़ के कुर्द स्वायत्त इलाक़े की सरकार ने क़ुर्द अलगाववादी संगठन पीकेके से कहा है कि वह अपने लड़ाकों को रिहायशी इलाक़ों से हटा ले.

कुर्द इलाक़ों में हो रहे हवाई हमलों और उनमें नागिरकों के मारे जाने और घायल होने की वारदातों के मद्देनज़र यह कहा गया है.

इलाक़े की सरकार ने हवाई हमले को लेकर तुर्की की निंदा की है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मार्च 2013 में पीकेके और तुर्की के बीच संघर्ष विराम हुआ था.

दूसरी ओर, पीकेके प्रवक्ता ने दावा किया है कि इराक़ में कुर्द इलाक़े के प्रमुख मसूज बरज़नी को वहां होने वाले हवाई हमलों की जानकारी पहले से ही थी.

इराक़ी कुर्दों ने इससे इंकार किया है.

मार्च 2013 में हुए युद्ध विराम के बाद से पीकेके के कैंपों पर तुर्की के ये पहले हवाई हमले हैं. तुर्की और कई अन्य पश्चिमी देश पीकेके को चरमपंथी संगठन मानते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार